जम्मू-कश्‍मीर : झेलम खतरे के पार, सैकड़ों सैलानी फंसे

भारी बारिश के दौरान कई स्थानों पर हुए भूस्ख्लन की वजह से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग आज लगातार तीसरे दिन यातायात के लिए बंद है। इससे कश्मीर जाने वाले 500 से अधिक लोग रास्ते में फंसे हुए हैं। प्रदेश में लगातार हो रही बारिश से झेलम नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया है।
मौसम विभाग के निदेशक बीपी यादव ने कहा है पश्चिमी गड़बड़ी की वजह से जो भारी बारिश हो रही थी उसका असर कम हो गया है। अब 4-5 दिनों तक राज्य में भारी बारिश होने की संभावना नहीं है। छिटपुट हल्की बारिश हो सकती है।
बताया गया है कि जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर तीन से चार जगहों पर भूस्खलन होने की सूचना है। सीमा सड़क संगठन के कर्मी भारी मशीनों की सहायता से सड़क खोलने का काम कर रहे हैं। लेकिन लगातार हो रही बारिश से इस काम में खलल उत्पन्न हो रहा है। हाइवे पर जगह जगह 1000 से अधिक गाड़ियां फंसी है।
उधर, बटोटे-डोडा- किश्तवार मार्ग पर भी कई स्थानों पर भूस्ख्लन होने से यातायात बंद कर दिया गया है। संबंधित अधिकारियों का कहना है कि मौसम साफ होने पर ही मार्ग को यातायात के लिए खोला जा करेगा।