बिहार से बेचने के लिए ले जाई जा रहीं दो सगी बहनों को डालटनगंज में कराया मुक्त

रांची मानव तस्करी के लिए बदनाम रहे झारखंड में दो सगी बहनों को नवजीवन मिला है। यहां राजधानी से सटे डालटनगंज रेलवे स्टेशन से उन्हें बरामद किया गया है। शहर थाना और महिला थाना की पुलिस ने संयुक्त रूप से छापेमारी कर दो सगी बहनों को डालटनगंज रेलवे स्टेशन से बरामद किया है। मानव तस्करी के मुख्य आरोपी को भी पुलिस ने दबोच लिया है। घटना मंगलवार मध्य रात्रि की है। इसकी पुष्टि महिला थाना प्रभारी दुल्लर चौड़े ने की। उन्होंने बताया कि औरंगाबाद के नबीनगर निवासी दो लड़कियों को एक व्यक्ति राजस्थान लेकर जा रहा था। इसकी गुप्त सूचना प्राप्त हुई थी। सूचना मिलते महिला थाना प्रभारी दुल्लर चौड़े और एसआइ मंतुष्ट महतो दलबल के साथ रेलवे स्टेशन पहुंचे। जम्मूतवी एक्सप्रेस के पहुंचने से पहले ही उक्त दोनों लड़कियों के साथ अभियुक्त को धर दबोचा। इनमें से एक नाबालिग है। इन लड़कियों के पिता ने तीन शादियां की थीं। करीब एक माह पूर्व सौतेले भाइयों ने दोनों बहनों को घर से बाहर निकाल दिया था। इसके बाद वे किसी तरह उंटारी रोड रेलवे स्टेशन पहुंचीं। इस बीच उसकी मुलाकात स्थानीय बारालोटा निवासी शैलेश कुमार राम से हुई। इसके बाद दोनों बहनें उसके साथ बारालोटा में रहने लगीं। महिला थाना प्रभारी के अनुसार शैलेश दोनों युवतियों को राजस्थान शादी करने के लिए ले जा रहा था। 40-40 हजार रुपये में सौदा हुआ हुआ था। दुल्लर चौड़े ने बताया कि अभियुक्त शैलेश को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। साथ ही युवतियों को बाल सुधार गृह भेजने की तैयार की जा रही है।