गुरुदेव स्वामी चिन्मयानंद जी की 105 वी जयंती मनाई गई

बोकारो से जय सिन्हा

बोकारो : चिन्मय विद्यालय बोकारो में आज परम् पूज्य गुरुदेव स्वामी चिन्मयानंद सरस्वती की 105वी जन्मदिवस को धूमधाम से कोविड19 के दिशा निर्देश का पालन करते हुए वर्चुअल तरीके से मनाया। कक्षा प्री नर्सरी से बारहवीं तक छात्र छात्राओं एवम शिक्षक शिक्षिकाओं ने अपनी प्रतिभा का परिचय दिया।
•प्री नर्सरी ने स्माइली बनाया,
•नर्सरी ने बर्थडे कार्ड
•प्रेप ने ड्रेस प्रतियोगिता
•प्रथम एवम द्वितीय ने वृक्षारोपण एवं वीडियो संदेश किया।
साथ ही कक्षा नवमी की छात्राओं ने पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन से गुरुदेव जी के जीवन को दर्शाया। जिसमे आकांक्षा, मानवी, अंशु मिश्रा, शाम्भवी, ईशा मंडल, सोना, अनुष्का, समीक्षा, आयुषी ने बहुत ही खूबसूरती के साथ प्रदर्शन किया।
चिन्मय मिशन बोकारो की आवासीय आचार्या स्वामिनी संयुक्तानंद जी, बिद्यालय अध्यक्ष बिश्वरूप मुखोपाध्याय, सचिव महेश त्रिपाठी, कोषाध्यक्ष आर एन मल्लिक व प्राचार्य अशोक कुमार झा ने सभी विद्यार्थियों, अभिभावकों, शिक्षकों एवम बोकारो वासियों को परम् पूज्य गुरुदेव स्वामी चिन्मयानंद जी के 105वी जन्मदिवस की ढेरों शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि गुरुदेवजी विश्व के महानतम आध्यात्मिक गुरु थे। उन्होंने हिन्दू धर्म, अध्यात्म एवम शिक्षा के विकास के लिए अनेकों कार्य किये। स्वामी जी विश्व के सैकड़ों देशों में चिन्मय मिशन की स्थापना करते हुये वेदों का प्रचार किया। विश्व को भारतीय सभ्यता एवम संस्कृति का लोहा मनवाया। इस विपरीत परिस्थितियों में हमे धैर्य एवम अनुशासन के साथ कोविड 19 के लिए दिए गए दिशा निर्देश का पालन करना चाहिए। हिमाचल प्रदेश स्थित चिन्मय तपोवन कुटीर के साथ साथ विश्व के सभी चिन्मय मिशन केन्द्रों में विश्व कल्याण के लिए पूजा अर्चना की गई।