क्रेशर प्लांट के लापरवाही से एक हाइवा चालक की करंट लगने से हुई मौत

छत्तरपुर से छोटू कुमार की रिपोर्ट
छत्तरपुर : पलामू जिले के छतरपुर थाना क्षेत्र में क्रेशर प्लांट पर हादसा हुआ. विद्युत करंट लगने से वाहन चालक की मौत हो गयी. उदयगढ़ पंचायत के खरवारडीह में संचालित सुचिता मिलिनियम कंपनी में हादसा हुआ. आरोप है कि कंपनी की लापरवाही ने हाईवा चालक की जान ले ली. हाईवा चालक की पहचान उदयगढ़ पंचायत के ही तिलईया ग्राम निवासी तीस वर्षीय सुनील यादव, पिता जगदेव यादव के रूप में हुई है. छतरपुर पुलिस शव को कब्जे में लेकर अग्रेतर करवाई में जुट गयी है.

पिता ने बताया कि कंपनी की लापरवाही से उसके बेटे की जान चली गयी. अपने जवान बेटे के शव को लेकर छतरपुर थाना पहुंचे मृतक के पिता ने कहा कि उनके बेटे की मौत कंपनी के द्वारा सुरक्षा इंतजामों को लेकर लापरवाही बरतने की वजह से हुई है.

कहा कि जिस स्थान पर विद्युत करंट, वहां पहले भी कुछ चालकों को करेंट लग चुका है. कई बार इस संबंध में कंपनी के संचालक से शिकायत भी की गयी, लेकिन कंपनी ने मामले को गंभीरता से नहीं लेते हुए लापरवाही बरती , जिसका परिणाम है उनके बेटे की मौत.

गांव में तेज रफ्तार से दौड़ती कंपनी की गाड़ियां

ग्रामीणों ने बताया कि कंपनी की गाड़ियां भी गांव में 60 – 70 किमी / घंटे की रफ्तार से दौड़ती है. इस संबंध में कई बार आक्रोश भी व्यक्त किया है, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. गांव के अंदर कम्पनी की गाड़ियों की यह गति भी अनहोनी को दावत दे रही है.
अवैध रूप से संचालित है कंपनी : राजद युवा जिला अध्यक्ष

पलामू राजद के जिला युवा अध्यक्ष फैजुल हक़ राशिद ने स्थानीय पदाधिकारियों और कम्पनी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि कोलकाता की सुचिता मिलिनियम नामक कंपनी घनी आबादी वाले खरवारडीह गांव के बीचों बीच पिछले दो वर्षो से पूरी तरह से अवैध रूप से चलाई जा रही है, जो की स्थानीय पदाधिकारियों की मिलीभगत से संभव हो पा रहा है. उन्होंने कहा कि विधानसभा द्वारा गठित जांच टीम के द्वारा भी उक्त कम्पनी को अवैध पाया गया था.

कंपनी के पास किसी तरह का न ही एग्रीमेंट है न ही कंपनी को एनओसी मिला है, लेकिन बावजूद इसके कंपनी पर किसी तरह की करवाई नही की गई, जिसका परिणाम है यह मार्मिक घटना. उन्होंने कहा कि राजद छतरपुर इस मुद्दे पर आंदोलन करेगा और इस मामले को मुख्यमंत्री के संज्ञान में भी लाने का कार्य करेगा.