निर्मल दा के शहादत को भुलाया नहीं जा सकता : शीतल ओहदार

रांची:  आज टोटेमिक कुरमी/कुडमी विकास मोर्चा, रांची जिला समिति की ओर से वीर शहीद निर्मल महतो का 34वां शहादत दिवस राँची के जेल मोड़ स्थित शहीद निर्मल महतो चौक में मोर्चा के रांची जिला अध्यक्ष रामदायल महतो की अध्यक्षता में श्रद्धांजलि सभा हुई। मोर्चा के नेताओं ने सर्व प्रथम निर्मल दा के प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किया। सभा को सम्बोधित करते हुए टोटेमिक कुरमी/कुडमी विकास मोर्चा के केन्द्रीय अध्यक्ष शीतल ओहदार ने कहा की निर्मल दा के शहादत को भुलाया नहीं जा सकता है। उन्होंने अपना पूरा जीवन झारखंडियों के लिए कुर्बान कर दिया। वे वर्तमान एवं आनेवाले कई पीढ़ियों के लिए आदर्श बन रहेंगे। झारखण्ड अलग राज्य वीर शहीद निर्मल महतो के बलिदान से ही मिला जिसके बावजूद आज तक राज्य सरकार की ओर से उन्हें शहीद का दर्जा नहीं दिया गया है, उन्होंने राज्य सरकार से मांग किया कि अविलम्ब निर्मल महतो को शहीद का दर्जा दिया जाए एवं 8 अगस्त को राजकीय अवकाश की घोषणा करे,
मोर्चा के केंद्रीय मीडिया प्रभारी ओम प्रकाश महतो ने कहा कि निर्मल दा के विचारों को हर पल दिल और दिमाग में जिंदा रखेंगे। निर्मल दा ने अलग राज्य की लड़ाई के लिए जो अलख जगाई थी। उसे भूला नहीं जा सकता। अब अलग राज्य तो मिल गया। लेकिन उनकी परिकल्पना साकार होना बाकी हैं। उनके सपनों को मुकाम तक पहुंचाने के लिए टोटेमिक कुरमी/कुडमी विकास मोर्चा प्रतिबद्ध है। मोर्चा के एक-एक कार्यकर्ता झारखंडी जनमानस के साथ चलने और भावना के अनुरूप झारखंड के नव निर्माण का वचन लें ताकि निर्मल दा के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित की जा सके।
इस मौके पर केन्द्रीय महासचिव रामपोदो महतो, ओम प्रकाश महतो, राजेश महतो, रूपलाल महतो, सखीचंद महतो,अनिल महतो,अजय महतो, रामदयाल महतो,सोनालाल महतो,सुषमा देवी, बनिता देवी,माधुरी देवी, फुलको देवी,विराट महतो, कमलेश ओहदार,कुमार तन्नु,देवेंद्र महतो,नरेश कुरमी,जयराम महतो,नंद लाल महतो, ललित महतो, मनोज महतो,ब्रजलाल महतो, राम ओहदार, सुप्रेश महतो,रावंती देवी,लालो देवी, उर्मिला देवी,सीता देवी,सरिता देवी,नबु लाल महतो,झबु लाल महतो,अमर महतो,दिनेश महतो,राहुल महतो, सचिन कुमार,राहुल कुमार,नवीन महतो,मुन्ना महतो, रंजीत कुमार,पवन कुमार,बाबुराम महतो,आदित्य महतो, रतन महतो सहित कई उपस्थित थे।