बड़े हादसे को दावत दे रही है बिजली के जर्जर तार व पोल

गांव वालों ने की बदलने की मांग, दस दिन से अंधेरे में गुजर रही हैं रात
जावेद अख्तर की रिपोर्ट
हनवारा: महागामा अनुमंडल अंतर्गत नायनगर पंचायत के जटामा (गोरिकित्ता) गांव में बिजली विभाग द्वारा खड़ा किया गया बिजली पोल एवं बिजली तार बड़ी हादसा को आमंत्रित कर रही है। ग्रामीणों द्वारा बिजली विभाग के अधिकारियों को कई बार सूचना दिया गया है लेकिन इस समस्या को दूर करना किसी ने अबतक नहीं समझा है। जर्जर बिजली तार होने के कारण ग्रामीण करीब 10 दिन से अंधेरे में रात गुजारने के लिए बेबस हो गए हैं।जिस कारण ग्रामीणों में आक्रोश जताया जा रहा है। ग्रामीण बिजली के जर्जर तारों एवं पोलों से परेशान हैं।लोगों को जर्जर हालात में हो रहे विधुत तारों एवं पोलों से भय सता रही हैं। ग्रामीण प्रवेज आलम,नौशाद आलम,नूरुद्दीन,अरशद, मुजिबुल हक,इरशाद,जुनेद, मुस्तफा,साजन,शमशाद, गुलाम,एजाज,इंजमाम, रितेश कुमार आदि का कहना है कि गांव में महागामा पावर ग्रिड से बिजली सफ्लाई किया जाता है, जहाँ से सफ्लाई दिया गया है वहां से बिजली विभाग द्वारा दो ही तार खींचा गया है और वह भी बिल्कुल जर्जर हो गए हैं। बिजली के जर्जर तारों एवं पोलों की वजह से कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है। बिजली तार के जर्जर हालत होने के कारण कब कहाँ फॉल्ट हो जाता हैं किसी को पता भी नहीं चलता है। मालूम हो कि जटामा गांव के ग्रामीणों के लिए जर्जर हो चुके तार एक बड़ी समस्या बन चुकी हैं। गांव में लम्बे समय से जिन तारों से बिजली की सप्लाई की जा रही है,वे काफी पुराने हैं।और सिर्फ दो तार है इससे आए दिन दुर्घटना होती रहती है क्योकि जिन जर्जर तारों से विद्युत सप्लाई की जा रही है, उसी के नीचे रास्ते से राहगीर और छात्र-छात्राएं रोज गुजरते हैं। ग्रामीण ने बताया कि जर्जर बिजली के तारों को बदलना बहुत ही जरूरी हो गया है,क्योंकि हम लोगों के सामने बहुत बार तार गिर कर जलने लगता है। समाजसेवी मु० प्रवेज आलम ने कहा कि बिजली विभाग द्वारा बहुत ही लापरवाही बरती गई हैं,बिजली सफ्लाई के लिए खींचा गया तार बहुत जर्जर हो चुका है, जिससे आए दिन दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।रास्ते से गुजरने वाले लोगों को हमेशा डर लगा रहता है।इस बारे में जिम्मेदार अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों को बहुत बार सूचना दी जा चुकी है। लेकिन अब तक किसी ने सुध नहीं ली है। दस दिन से लोग अंधेरे में रात गुजारने पर बेबस हो गए हैं। ग्रामीणों ने स्थानीय विधायक दीपिका पांडे सिंह एवं जिला प्रशासन से जर्जर तार एवं पोल बदलवाने की मांग की है।ताकि लोग भयमुक्त हो सके।