सूरत पाण्डेय डिग्री कॉलेज में हिन्दी दिवस पर भाषण प्रतियोगिता आयोजित

गढ़वा से नित्यानंद दुबे की रिपोर्ट

गढ़वा ।स्थानीय सूरत पाण्डेय डिग्री कॉलेज में मंगलवार को हिन्दी दिवस मनाया गया। इस मौके पर वर्तमान परिप्रेक्ष्य में हिन्दी की दशा एवं दिशा विषय पर भाषण प्रतियोगिता आयोजित किया गया। भाषण प्रतियोगिता में अंजली कुमारी को प्रथम, रागिनी कुमारी को द्वितीय तथा किरण कुमारी को तृतीय पुरस्कार दिया गया। कार्यक्रम की शुरुआत संत तुलसीदास के चित्र पर माल्यापर्ण कर की गयी। इस मौके पर प्राचार्य प्रो. रवीन्द्र कुमार द्विवेदी ने कहा कि हिन्दी हमारी राजभाषा है। अभिव्यक्ति का यह अत्यंत ही सरल भाषा है। बच्चों के सर्वागींण विकास के लिए महाविद्यालय द्वारा इस तरह के कार्यक्रम लगातार आयोजित किये जाते रहे हैं ताकि उनके अंदर की छिपी प्रतिभा उभर कर सामने आ सके। इस मौके पर हिन्दी विभाग के विभागाध्यक्ष प्रो. विवेकानन्द उपाध्याय ने कहा कि विश्व में बोले जानी वाली भाषा में हिन्दी का दुसरा स्थान है। वैश्वीकरण के इस दौर में हिन्दी अपने व्यावहारिकता के बलबुते उंचाईयों को प्राप्त कर रहा है। यही कारण है कि अमेजन और गुगल में भी हिन्दी का इस्तेमाल किया जा रहा है। बावजूद दुर्भाग्य है कि हिन्दुस्तान में हिन्दी का राष्ट्रभाषा बनने का सपना अब तक पुरा नही हो पाया। कार्यक्रम को प्रो. अर्जुन प्रसाद, डा. उमेश सहाय, डा. चन्द्र कुमार, प्रो. संजीव मिश्रा ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम पदाधिकारी प्रो. कमलेश सिन्हा ने किया जबकि धन्यवाद ज्ञापन प्रो. किरण कुमारी ने किया। इस मौके पर श्रेष्ठ गौरव, रवि कुमार गुप्ता, अभिषेक दीक्षित, शिवानंद पाठक तथा सकेन्द्र चौधरी को सांत्वाना पुरस्कार दिया गया। इस मौके पर प्रो. अखिलेश पाठक, प्रो. परवेज आलम, डा. उमेश सहाय, प्रो. सत्यदेव कुमार, प्रो. अखिलेश शुक्ला आदि उपस्थित थे।