धार्मिक स्थल में विद्यालय भवन बनाने का ग्रामीणों ने किया विरोध

-चक्रधरपुर प्रखंड के आदर्श मध्य विद्यालय देवगांव, केंदो का मामला ग्रामीणों को पुरजोर विरोध के बाद पहुंचे विधायक सुखराम उरांव, सुनी समस्या
रामगोपाल जेना
चक्रधरपुर : चक्रधरपुर ग्रामीण क्षेत्र के केंदो स्थित आदर्श मध्य विद्यालय देवगांव में नए भवन बनाने का ग्रामीण पुरजोर विरोध कर रहे हैं। ग्रामीणों ने ग्राम सभा में प्रस्ताव पारित कर इसके विरोध में उपायुक्त को भी पत्र लिखकर अवगत कराया है। ग्रामीणों की दलील है कि यहां पवित्र जाहिर धार्मिक स्थल है। 40 वर्ष पूर्व ग्रामीणों ने गांव के छोटे बच्चों की शिक्षा के लिए जाहिर स्थल में ही स्कूल खोलने की अनुमति दी थी। परंतु कालांतर में विभाग और शिक्षकों ने जाहिर स्थल की पवित्रता को नजरअंदाज किया और उनकी मंशा पवित्र स्थल को लुप्त करने की रही। विद्यालय भवन धार्मिक स्थल पर ही बनी है। इसलिए अतिरिक्त भवन का निर्माण ना किया जाए। धार्मिक स्थल की सीमित जमीन है और पर्व त्योहार और उत्सव का भी आयोजन होता है, जिसमें सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु जुटते हैं। वहीं बच्चों को कम जमीन होने के कारण साइकिल रखने, प्रार्थना करने और खेलकूद में भी परेशानी होती है। इस विद्यालय में ईटोर, कोलचोकड़ा और हथिया के बड़ी तादाद में बच्चे पढ़ने आते हैं। बेहतर होगा कि इन गांवों में नया विद्यालय भवन बनाया जाए। इस दौरान अजय लकड़ा सुशील माझी, जितेंद्र लकड़ा, अरुण तांती, कार्तिक माझी, दीपक माझी, कमलेश लकड़ा, मोसो माझी, नकुल राम, लोबो कैवर्त, काजल कैवर्त, चायना कैवर्त, लगी मुंडा, फूलमती देवी, सहचरी कैवर्त, शांति देहुरी, लक्ष्मी तांती, सरोज दास समेत काफी संख्या में ग्रामीण उपस्थित रहे। विद्यालय पहुंचे विधायक, ली जानकारी पवित्र धार्मिक स्थल में नया विद्यालय भवन बनाने के विरोध की सूचना मिलने के बाद चक्रधरपुर के विधायक सुखराम उरांव भी संबंधित विद्यालय पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों से पूरे मामले की जानकारी ली और इसे ग्राम सभा द्वारा लिया गया निर्णय बताया। पवित्र धार्मिक स्थल पर नया विद्यालय भवन बनने नहीं देंगे। यहां युग युग से यहां ग्राम देवी की पूजा हो रही है। इसलिए पूजा स्थल को छोड़कर दूसरी जगह विद्यालय भवन बनाया जाए। जरूरत पड़ी तो हम ग्रामीण ऊपर तक जाएंगे।