कालाबाजारी के लिए ले जाया जा रहा 20 बोरा चावल जब्त

– दोषी डीलर का दुकान सील
– एसडीओ के आदेश पर डीलर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की हो रही कार्रवाई
विजय कुमार की रिपोर्ट
मेहरमा : प्रखंड में आपूर्ति विभाग का काला कारनामा थमने का नाम नहीं ले रहा है। आए दिन नए-नए कारनामे देखने को मिल रहे हैं। ताजा मामला गुरुवार का है। मेहरमा प्रखंड के पहाड़खंड में संचालित जन वितरण प्रणाली के डीलर ललन प्रसाद (अनुज्ञप्ति संख्या- 1/97) की दुकान से गुरुवार को अहले सुबह कालाबाजारी की नीयत से एक ऑटो में लोड कर सरकारी चावल ले जाया जा रहा था। ग्रामीणों ने ऑटो को पकड़कर इसकी सूचना मेहरमा प्रशासन को दी। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे अंचल अधिकारी सुनील कुमार एवं मेहरमा थाना के सब इंस्पेक्टर जितेंद्र वर्मा ने पूरे मामले की जांच की।
जांच के दौरान पाया गया कि कालाबाजारी के नियत से ऑटो में लोड कर सरकारी खाद्यान्न ले जाया जा रहा था। सीओ के निर्देश पर उक्त ऑटो को जब्त करते हुए मेहरमा थाना लाया गया।
इधर घटना की सूचना मिलते ही महागामा अनुमंडल पदाधिकारी जितेंद्र कुमार देव के निर्देश पर डीलर ललन प्रसाद की दुकान प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी के द्वारा सील कर दिया गया है।
इस संबंध में सीओ सुनील कुमार ने मीडिया को बताया कि डीलर के विरुद्ध मेहरमा थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी। बताया कि डीलर के द्वारा अपने दुकान का सूचना बोर्ड पर स्टॉक शून्य दिखाया गया है। बावजूद इसके, दुकान पर भारी मात्रा में स्टॉक उपलब्ध है। इसकी भी जांच की जाएगी। जांच के बाद दोषी डीलर के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी।
इधर कई ग्रामीणों ने बताया कि उक्त डीलर की दुकान पहाड़खंड गांव में है और निजी घर शंकरपुर में है। कालाबाजार के आरोप में धराया डीलर प्रखंड डीलर संघ का सचिव भी बताया जा रहा है। इसके बावजूद गरीब कार्डधारियों का हकमारी कर राशन की कालाबाजारी कर रहे थे। गांव वाले डीलर की दादागिरी से परेशान थे। डीलर को रंगे हाथों पकड़ने के लिए ग्रामीण काफी दिनों से प्रयासरत थे। ग्रामीणों ने प्रशासन को यह भी चेताया है कि दोषी डीलर के विरुद्ध अगर कठोर कार्रवाई नहीं हुई तो मेहरमा प्रखंड मुख्यालय में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल किया जाएगा।