बिनोद धाम बलियापुर से 160 किलोमीटर की विशाल पदयात्रा करते हुए पांचवा दिन राजभवन रांची पहुँचे 20 हजार लोग 

रांची: पदयात्रा के नेत्तृत्वकर्ता टोटेमिक कुरमी/कुडमी विकास मोर्चा के केंद्रीय अध्यक्ष शीतल ओहदार ने कहा कि टोटेमिक कुरमी/कुडमी विकास मोर्चा का विशाल पदयात्रा जो 23 सितंबर को बिनोद धाम, बलियापुर,धनबाद से शुरू होकर 160 किलोमीटर की विशाल पदयात्रा पांचवा दिन राजभवन, रांची पहुँची, जिसमें लगभग 20 हजार लोग पारंपरिक वेशभूषा में ढोल नगाड़ा, छऊ नृत्य, नटुवा नाच,घोड़ा नाच के साथ शामिल थे!
आज सुबह ब्लॉक चौक ओरमांझी में समाज के 20 हजार लोग पदयात्रा करते हुए विकास ,बीआईटी मोड़, बूटी मोड़, बरियातू, कचहरी चौक होते हुए राजभवन रांची पहुँची, वहां पहुंचकर समाज के 11 सदस्य प्रतिनिधि मंडल द्वारा महामहिम राज्यपाल एवं माननीय मुख्यमंत्री जी को पवित्र मिट्टी एवं मांग पत्र सौंपा गया। पदयात्रा के माध्यम से झारखंड सरकार से झारखंड मुक्ति मोर्चा के संस्थापक , झारखंड आंदोलन के महानायक, महापुरुष विनोद बिहारी महतो को झारखंड पितामह का दर्जा देने ,बोकारो एयरपोर्ट का नामकरण बिनोद बिहारी महतो एयरपोर्ट करने, सरकारी पाठ्यक्रम में बिनोद बिहारी महतो की जीवनी शामिल करने, राजभवन एवं विधानसभा में बिनोद बिहारी महतो का आदमकद प्रतिमा लगाने एवं राजधानी रांची में बिनोद बिहारी महतो का समाधि स्थल बनाने की मांग किया गया!
पदयात्रा में मोर्चा के केंद्रीय प्रधान महासचिव रामपोदो महतो ने कहा कि झारखंड सरकार यदि महापुरुष बिनोद बिहारी महतो को उक्त मांग के आधार पर उचित सम्मान नहीं देती है तो पूरे राज्य में जोरदार आंदोलन किया जाएगा,केंद्रीय मीडिया प्रभारी ओम प्रकाश महतो ने कहा कि बिनोद बिहारी महतो ने झारखंड की जनता में राजनीतिक चेतना और शिक्षा की अलख जगाई और झारखंड अलग राज्य के सपने को साकार करवाए इसलिए अब राज्य सरकार अविलंब उनको उचित सम्मान देने का कार्य करें! पदयात्रा में गिरिडीह के सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी, रांची के सांसद संजय सेठ, पूर्व मंत्री छत्रुराम महतो, पूर्व सांसद रामटहल चौधरी,पूर्व मंत्री जलेश्वर महतो, सिंदरी विधायक की पत्नी तारा देवी, गोमिया के विधायक डॉ.लंबोदर महतो, हटिया के विधायक नवीन जयसवाल, कांके के विधायक समरी लाल, गोड्डा के विधायक अमित मंडल शामिल होकर मांग को समर्थन किया , पदयात्रा में केंद्रीय प्रधान महासचिव रामपोदो महतो,केंद्रीय मीडिया प्रभारी ओम प्रकाश महतो,कुडमी सेना के अध्यक्ष लालटु महतो,कुडमी सेना ओड़िसा के अध्यक्ष जयमुनी मोहंता,रचिया महतो,सखीचन्द महतो,शलखु महतो, परमेश्वर महतो,अजय महतो, जगरनाथ महतो,राम ओहदार, थानेश्वर महतो, कपिलदेव महतो, श्रीनाथ महतो, हेमलाल महतो,विराट महतो,अमर चौधरी, रंधीर चौधरी xसंजय महतो, सुषमा देवी,दीपक महतो, नरेश महतो,सोनालाल महतो,गुरुदेव महतो, गुणानंद महतो,सोमनाथ महतो,गौरीशंकर महतो, मोहन महतो,टीपू महतो, निरंजन महतो,महावीर महतो,गुरुदेव महतो,संजय लाल महतो, छेत्रमोहन महतो, शिबू महतो,फुलको देवी,राजू महतो,चंदन महतो,रामचंद्र महतो, सपन महतो, सरस्वती देवी,डब्लू महतो,विष्णु महतो, मुनचून महतो,पंकज महतो,दिलीप महतो,रीता देवी,अनुची देवी,नबुलाल महतो, दिनेश महतो,फनेश्वर महतो,रंधीर महतो, प्रवीण महतो,रूपेश महतो, तन्नू महतो,अनिल महतो,देवेंद्र नाथ महतो, गिरधारी महतो, सोमनाथ महतो,नरेश महतो, महेंद्र महतो,अशोक महतो, ईश्वर महतो, आदि हजारों लोग शामिल थे!