झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद क्विज का उर्दू कंटेंट दे : उर्दू शिक्षक संघ

रांची: झारखंड राज्य उर्दू शिक्षक संघ की जूम मीटिंग नाजिम अशरफ की अध्यक्षता में हुई. जिसमें झारखंड के सभी जिलों के पदाधिकारी एवं सदस्य शामिल हुए. मीटिंग के दौरान झारखंड राज्य उर्दू शिक्षक संघ का कुटुंब एप्प से जुड़ने का स्वागत किया गया तथा तय किया गया कि अधिक से अधिक सदस्यों को कुटुंब एप्प से जोड़ा जाएगा. पूरे राज्य से प्रथम तीन वैसे सदस्यों को सम्मानित किया जाएगा जो अधिक सदस्यों को एप्प से जोड़ कर सर्वाधिक अंक अर्जित करेंगे. केंद्रीय समिति की भविष्य में होने वाली बैठक में तीनों सदस्यों को सम्मानित किया जाएगा.
मीटिंग में पश्चिमी सिंहभूम जिला के उपाध्यक्ष शमशेर आलम द्वारा बंचिंग से प्रभावित शिक्षकों का वेतन निकासी बंद किए जाने के मामले से केंद्रीय समिति को अवगत कराया गया. जिसके बाद सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि पश्चिमी सिंहभूम जिला के शिक्षकों की समस्या को झारखंड राज्य उर्दू शिक्षक संघ गंभीरता से लेगी और निकट भविष्य में ही शिक्षा सचिव, शिक्षा निदेशक और शिक्षा मंत्री को मांग पत्र सौंप कर पूरे मामले की जानकारी दी जाएगी. केंद्रीय महासचिव अमीन अहमद ने शकील अहमद, शमशेर आलम और इरशाद अली को पूरे मामले से अवगत होने और आवेदन पत्र एवं संबंधित कागजात तैयार कर केंद्रीय समिति को भेजने की जिम्मेदारी दी.
ऑनलाइन शिक्षा अंतर्गत डीजी साथ-2 में प्रत्येक शनिवार को क्वीज के कंटेंट में उर्दू विद्यालयों के विद्यार्थियों के लिए उर्दू लिपि में प्रश्न नहीं दिये जाने पर आपत्ति व्यक्त की गई. निर्णय लिया गया कि झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद रांची को स्मार पत्र देकर उर्दू लिपि में क्वीज, सभी विषयों की पुस्तकें उर्दू लिपि में और पूरे सप्ताह उर्दू विषय के कंटेंट देने की मांग दोहराई जाएगी. उर्दू भाषी विद्यार्थियों के लिए राष्ट्रभाषा हिंदी (हिन्दी बी) विषय के कंटेंट देने की मांग की जाएगी.
केंद्रीय महासचिव अमीन अहमद द्वारा दिए गए सुझाव को अपनाते हुए तय किया गया कि केंद्रीय कमेटी की बैठक अब 21 दिनों तथा जिला कमेटी की बैठक 15 दिनों के अंतराल में होगी. लोहरदगा जिला अध्यक्ष इनामुल हक के मशवरे को स्वीकार करते हुए तय किया गया कि यू डाइस समेत जितने भी विभागीय डाटा भरे जाएंगे सभी में उर्दू भाषी बच्चों का धर्म इस्लाम और भाषा उर्दू दर्शाया जाएगा.
मीटिंग की संचालन अमीन अहमद और धन्यवाद ज्ञापन एस अनवर ने किया.
जूम मीटिंग में इनामुल हक, इरशाद अली, गुलाम अहमद, मुख्तार अंसारी, रौनक आलम, शकील अहमद, अब्दुल गफ्फार अंसारी, अंजुम फिरदौसी, मोहम्मद शमीम अहमद अंसारी, साबिर अहमद, शमीम अंसारी, हस्सामुल हसन, मोहम्मद शमशेर आलम, तौहीद आलम, जहांगीर आलम अंसारी, शहजाद अनवर, राकिम अहसन, इमरोज अंसारी, अब्दुल रज्जाक अंसारी, अब्दुल माजिद खान, महफूज उर रहमान, मोहम्मद नसीमुद्दीन, मो. दिलदार अंसारी आदि शामिल हुए.