पलामू में इंटरस्टेट वाहन लूट गिरोह के 9 सदस्य गिरफ्तार, लूट के तीन वाहन जब्त

पलामू से सुधीर कुमार गुप्ता की रिपोर्ट

मेदिनीनगर: पलामू: पुलिस ने एक ऐसे इंटरस्टेट गिरोह के 9 सदस्य को गिरफ्तार किया है, जो नेशनल हाइवे पर शराब माफिया के लिए वाहन लूटते थे. ये गिरोह झारखंड के इलाके में खास वाहनों को लूटकर बिहार के शराब माफिया को बेचता था. गिरोह में शामिल सभी सदस्य बिहार के औरंगाबाद के रफीगंज और रोहतास के रहने वाले हैं।गिरफ्तार सदस्यों ने पलामू पुलिस के सामने कई बड़े खुलासे किए हैं. पलामू छतरपुर अनुमंडल क्षेत्र में 30 जुलाई और 10 अगस्त को पिकअप वैन की लूट हुई थी. एसपी ने मामले में एसआईटी का गठन किया था. इस एसआईटी में छतरपुर इंस्पेक्टर वीरसिंह मुंडा और थाना प्रभारी शेखर कुमार शामिल थे. तकनीकी जांच के आधार पर पलामू पुलिस वाहन लुटेरा गिरोह तक पहुंची. एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने बताया कि सभी आरोपी एक स्कॉर्पियो में सवार होकर वाहन लूट की घटना को अंजाम देने वाले थे. पुलिस को इसकी भनक लग गई थी. इसी सूचना के आलोक में छतरपुर जपला रोड में छापेमारी कर पुलिस ने सभी सदस्यों को गिरफ्तार किया है.

शराब माफियाओं के लिए लूटे जाते थे वाहन
पलामू एसपी चंदन कुमार सिन्हा ने बताया कि गिरोह के गिरफ्तार सदस्य शराब माफियाओं के लिए वाहन लूटते थे और बिहार के इलाकों में बेचते थे. वाहन लूटने का मुख्य उद्देश्य शराब की तस्करी है. पूरे मामले में छतरपुर अनुमंडल क्षेत्र में पलामू पुलिस नजर बनाए हुए है. एसपी ने बताया कि इस तरह के गिरोह के सदस्यों के खिलाफ पुलिस कड़ी कार्रवाई करेगी. गिरफ्तार आरोपियों के पास से लूट के तीन पिकअप वाहन भी जब्त किए गए हैं।

गिरफ्तार सदस्यों के नाम
गिरफ्तार सदस्यों में प्रकाश कुमार उर्फ छोटू, औरंगाबाद का सुंदरगंज, पंकज सिंह, गौतम कुमार सिंह, अंकित सिंह, सोनू कुमार, सत्यम सिंह, शुभम कुमार, अशोक कुमार सिंह, भोला पासवान बिहार के रोहतास के डेहरी का रहने वाला है।