अवर वन सेवा संघ के 6 सदस्यीय शिष्टमंडल मिला मुख्य वन संरक्षक से

रांची: झारखंड राज्य अवर वन सेवा संघ का छः सदस्यी शिष्टमंडल प्रधान मुख्य वन संरक्षक ( पीसीसीएफ हॉफ) झारखंड रांची से मिला। शिष्टमंडल के साथ पीसीसीएफ हॉफ का लगभग 45 मिनट की वार्ता सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्पन्न हुआ। शिष्टमंडल के द्वारा पीसीसीएफ हॉफ को अवगत कराया गया कि झारखंड राज्य अवर वन क्षेत्रकर्मी संवर्ग नियमावली 2014 के विरुद्ध वनपाल के नियुक्ति हेतु वनपाल नियुक्ति नियमावली 2020 बनाया जा रहा है। जिससे वनरक्षियो का प्रोन्नति का अवसर समाप्त हो जायेगा । यह
भी बताया गया कि 2014 के नियमावली के अनुसार वनरक्षी से ही 100% वनपाल के पदों को प्रोन्नति से भरा जाना है, लेकिन नई नियमावली के प्रारूप में प्रस्ताव दिया गया है कि वनपाल के 50 प्रतिशत पदों पर ही वनरक्षी को प्रोन्नति मिल सकेगा। वनरक्षियो के वनपाल के पद पर प्रोन्नति एवं इसके आगे वन क्षेत्र पदाधिकारी के पद पर प्रोन्नति का मार्ग अवरुद्ध हो जाएगा। शिष्टमंडल ने विभागाध्यक्ष से अनुरोध किया है कि 2014 के नियमावली को यथावत प्रभावी रखा जाय। विभागाध्यक्ष ने हमारे शिष्टमंडल को अश्वासन दिया है कि वनरक्षी के हितों को देखते हुए इसपर अपर मुख्य सचिव वन पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग झारखंड रांची से विचार विमर्श कर आपके हितों को ध्यान में रखकर फैसला किया जाएगा और यह भी प्रयास रहेगा की झारखंड राज्य आवर वन क्षेत्र कर्मी संवर्ग नियमावली 2014 को यथावत रखा जाएगा।
शिष्टमंडल में झारखंड राज्य अवर वन सेवा संघ के राज्याध्यक्ष कामेश्वर प्रसाद, महामंत्री शिवनारायण महतो, कार्यकारी अध्यक्ष मनोरंजन कुमार, मिडिया प्रभारी जितेन्द्र कुमार, जोनलमंत्री संजय कुमार महतो, जोनल मंत्री निर्मल महतो एवं अन्य सहकर्मी उपस्थित थे।