आत्मा शासकीय निकाय एवं जिला स्तरीय राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन कार्यकारिणी समिति की बैठक सम्पन्न

बसंत

गुमला : आईटीडीए भवन गुमला के सभागार में उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में आत्मा शासकीय निकाय एवं जिला स्तरीय राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन कार्यकारिणी समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में मुख्य रूप से आत्मा कार्यालय द्वारा संचालित योजना यथा किसानों का प्रशिक्षण कार्यक्रम, कृषि प्रत्यक्षण, किसानों का परिभ्रमण कार्यक्रम, कृषकों का क्षमता विकास, किसान मेला, तकनीकि पुस्तिका/लिफलेट, लघु फिल्म निर्माण/ई पैकेज, कृषक वैज्ञानिक अंतरमिलन कार्यक्रम, कृषक गोष्ठी, कृषक पाठशाला सहित राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन अंतर्गत दलहन, अरहर, उरद, मूंग, बीज व खाद, पम्पसेट, पानी पाईप, रेन गन, मिनी राईस मिल, मिनी दाल मिल, मल्टी क्राॅप थ्रेसर, रोटावेटर, पाॅवर स्प्रेयर वितरण आदि योजनाओं की विस्तार से समीक्षा की गई।

आत्मा शासकीय निकाय की समीक्षा

बैठक में आत्मा शासकीय निकाय की समीक्षा के क्रम में जिला कृषि पदाधिकारी सत्यनारायण महतो ने बताया कि जिला में 23 जिला स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन कर किसानों को प्रशिक्षण देने का लक्ष्य प्राप्त है। जिसमें आवासीय एवं गैर आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम दोनों माध्यम से किसानों को प्रशिक्षण देना है। जिस पर उपायुक्त ने गैर आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिला मुख्यालय में एवं आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम को कृषि विज्ञान केन्द्र बिशुनपुर मंे आयोजित करने का निर्देश दिया। साथ ही उपायुक्त ने किसानों को अधिक से अधिक गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण प्राप्त हो इसके लिए कृषि विज्ञान केन्द्र के प्रशिक्षक सहित बिरसा कृषि विश्वविद्यालय व अन्य स्थलों से भी प्रशिक्षकों को आमंत्रित करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने कहा गुमला जिला में कृषकों की संख्या के मद्देनजर प्रशिक्षण कार्यक्रमों की संख्या को बढ़ाएं, जिससे अधिक से अधिक किसानों को इसका लाभ मिलें।
बैठक में जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया 232 कृषि प्रत्यक्षण का लक्ष्य प्राप्त है। जिसमें लक्ष्य के विरूद्ध प्रति व्यक्ति इकाई पर फसलवार धान 03, सरगुजा 04, टमाटर 42, मिर्च 19, बोदी 05, शिमला मिर्च 13, ब्रोक्ली 10 एवं मटर 36 प्रत्यक्षण कुल 147 प्रत्यक्षण का कार्य कराया जा रहा है। शेष 85 प्रत्यक्षण सब्जी फसलों पर की जानी है। जिस पर उपायुक्त ने विगत वित्तीय वर्षाें में इस योजना से कितना प्रतिशत उत्पादन बढ़ा है उसकी जानकारी मांगी। साथ ही उपायुक्त ने अन्य फसलों का भी क्राॅप कटिंग कराकर ससमय डेमो देने का निर्देश दिया। उन्होंने क्राॅप कटिंग का 05 जनवरी 2021 तक डेमो देकर प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश जिला कृषि पदाधिकारी को दिया। किसानों का परिभ्रमण कार्यक्रम पर जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया कि एक राज्य स्तरीय एवं 37 जिला स्तरीय परिभ्रमण कार्यक्रम का लक्ष्य प्राप्त है। उन्होंने बताया राज्य स्तरीय परिभ्रमण हेतु 25 किसानों को पलान्डु रांची में उद्यान विषय पर एवं उसी संस्थान के निकट लाह रिसर्च आई.आई.एन.आर.जी. नामकुम का परिभ्रमण कराया जाएगा। वही 37 जिला स्तरीय परिभ्रमण कार्यक्रम के तहत् 15 कृषि विज्ञान केन्द्र बिशुनपुर एवं शेष परिभ्रमण कार्यक्रम जिला के विभिन्न स्थलों में वृहत पैमाने पर लगाएं गए खेतों में कराया जाएगा। जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया कि क्षमता विकास संवर्धन योजना के तहत् 36 कृषक अभिरूची समूह को 05 सीड मनी, 07 महिला खाद्य सुरक्षा दल का लक्ष्य प्राप्त है। जिसमें महिला समूहों का 10-10 सदस्यों का समूह बनाया जाता है तथा विभाग द्वारा राशि उपलब्ध कराया जाता है। उन्होंने बताया कि सीड मनी हेतु अलग-अलग कृषि कार्य के लिए 05 स्वयं सहायता समूह का चयन कर लिया गया है। जिस पर उपायुक्त ने किसानों को इससे कितना लाभ प्राप्त हो रहा है उसका प्रगति प्रतिवेदन तैयार कर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने कहा योजना के प्राप्त लक्ष्य को ससमय हासिल करने के लिए मेहनत कर कार्य करने की आवश्यकता है। उपायुक्त ने जिला कृषि पदाधिकारी को किसान मेला, कृषक वैज्ञानिक अंतरमिलन, कृषक गोष्ठी, कृषक पाठशाला इत्यादि का आयोजन ससमय सुनिश्चित करने का निदेश दिया।

जिला स्तरीय राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन कार्यकारिणी समिति की समीक्षा

जिला स्तरीय खाद्य सुरक्षा मिशन कार्यकारिणी समिति की समीक्षा के क्रम में उपायुक्त ने बीज वितरण सहित सब्सिडी में पम्पसेट, पानी पाईप, रोटावेटर वितरण के लक्ष्य को ससमय हासिल करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने कहा समय को ध्यान में रखते हुए इसमे तेजी लाने की आवश्यकता है। ताकि प्राप्त लक्ष्य को ससमय पूरा किया जा सकंे। उद्यान विभाग की समीक्षा के क्रम में जिला उद्यान पदाधिकारी ने बताया कि जिला स्तरीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत् जिला में उद्यान मित्रों के लिए 5 दिवसीय 60 प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करने का लक्ष्य प्राप्त है। वही 10 किसानों को 90 दिनों का माली कार्य का प्रशिक्षण देना है। 400 हेक्टेयर में मिर्च की ख्ेाती किया जाना है। उन्होंने बताया कीट रहित व गुणवत्तायुक्त सब्जी उत्पादन, फुल, केला आदि लगाने वाले कृषकों को चयनित कर लिया गया है।
बैठक में जिला पशुपालन पदाधिकारी ने बताया कि जिला स्तरीय खाद्य सुरक्षा मिशन के तहत् केसीसी ऋण हेतु 437 किसानों का आवेदन विभिन्न बैंकों को स्वीकृति के लिए भेजा गया है। परंतु अबतक मात्र 30 आवेदन ही स्वीकृत किया गया है। वही 01 लाख 07 हजार पशुओं के टीकाकरण किया जा चुका है। बैठक में जिला सहकारिता पदाधिकारी ने बताया कि धान अधिप्राप्ति हेतु जिला में अबतक 5008 किसानों का पंजीकरण किया जा चुका है तथा लगभग 700 आवेदन पंजीकरण हेतु प्राप्त है। वही बैठक में अपर समाहत्र्ता सुधीर कुमार गुप्ता ने बताया कि 344 किसानों से धान अधिप्राप्ति के विरूद्ध 155 किसानों को 54 लाख की राशि का भुगतान कर दिया गया है। जिला सहकारिता पदाधिकारी ने बताया कि जिला में तीन कोल्ड रूम निर्माण हेतु भवन प्रमण्डल को राशि आवंटित किया जा चुका है, परंतु अभी तक कार्य प्रारंभ नहीं हुआ है। बैठक में भूमि संरक्षण पदाधिकारी ने बताया कि किसानों को मनरेगा के अंतर्गत 90 प्रतिशत सब्सिडी पर पम्पसेट व 200 मीटर का पानी पाईप दिया जाना है। जिला मत्स्य पदाधिकारी ने बताया रियरिंग तालाब निर्माण हेतु 02 आवेदन प्राप्त हुआ है। वही 300 लाख मत्स्य बीज वितरण के विरूद्ध अबतक 100 लाख मत्स्य बीज का वितरण कर लिया गया है। जिस पर उपायुक्त ने संबंधित विभाग के पदाधिकारियों को सभी योजनाओं के प्राप्त लक्ष्य को ससमय हासिल करने के लिए जिम्मेवारी के साथ ससमय पूरा करने का निर्देश दिया। साथ ही उपायुक्त ने बीज व फर्टिलाईजर खाद की ज्यादा से ज्यादा मात्रा में बिक्री कराने को कहा।

बैठक में उपस्थिति

बैठक में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा, अपर समाहत्र्ता सुधीर कुमार गुप्ता, जिला कृषि पदाधिकारी सह परियोजना निदेशक आत्मा सत्यनारायण महतो, जिला पशुपालन पदाधिकारी सह जिला गव्य विकास पदाधिकारी डाॅ0 मीनू शरण, जिला सहकारिता पदाधिकारी कुमोद कुमार, जिला मत्स्य पदाधिकारी दीपक कुमार सिंह, जिला उद्यान पदाधिकारी, भूमि संरक्षण पदाधिकारी, उप परियोजना निदेशक आत्मा मोहित कुमार, तकनीकि सहायक अजीत कुमार, कृषि विज्ञान केन्द्र के वरीय वैज्ञानिक सह प्रधान सुनील कुमार, एडीएफ शांजुली, एलडीएम व डीडीएम नाबार्ड के प्रतिनिधि, कृषक समूह के प्रतिनिधि रंजीत प्रसाद, प्रगतिशील कृषक राधेश्याम सिंह, शनियारों देवी, नारायण दास सहित अन्य उपस्थित थे।