इचाक मोड़ चौराहा प्लान विहीन बनने के कारण के नित्य दिन दुर्घटनाएं : डॉ मेहता

हजारीबाग : इचाक मोड चौराहा राष्ट्रीय राजमार्ग एवं रामकी कंपनी द्वारा प्लानविहिन बनाने एवं उचि ठोकर लगाने के कारण नित्यदिन दुर्घटनाऐ हो रही है। निर्दोष मौत के गाल में समा रहे हैं राष्ट्रीय राजमार्ग का इस दुर्घटनाकारी मोड़ पर कोई ध्यान नहीं है। पुराने प्रोजेक्ट डायरेक्टर का तबादला हो चुका है नए प्रोजेक्ट डायरेक्टर राष्ट्रीय राजमार्ग का पदभार ले चुके हैं
आज दिन के 3 बजे संध्या निर्मला देवी 65 वर्ष पति अशोक कुमार भदानी जमशेदपुर दुर्घटनाग्रस्त हो गई, जिसका जबड़ा टूट गया है । सुयश कुमार 11 वर्ष पिता विनय कुमार न्यू दिल्ली निवासी का दुर्घटना हुआ जिसका बाया पैर टूट गया, दोनों को मेहता हॉस्पिटल में प्राथमिक उपचार के बाद रिम्स रेफर किया गया। चौराहा में फ्लाईओवर बनने की जरूरत था केंद्र सरकार द्वारा आदेश किया गया था जिसे राष्ट्रीय राजमार्ग फुट फ्लाईओवर मैं परिणत कर सिजुआ हाई स्कूल के पास लगा देने का प्लान किया है।
हजारीबाग एसपी एवं प्रशासन से मांग करता हूं जब तक कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं होता है तब तक इस हत्यारा इचाक मोड़ पर ट्रॉफीक की व्यवस्था किया जाए या कम से कम एक चौकीदार 24 घंटे चौराहा पर उपस्थित हो, जिससे दुर्घटनाएं में कमी आ सकती है नए प्रोजेक्ट डायरेक्टर प्रमोद कुमार साहब से मांग करता हूं ऊंचा ठोकर या तीखा मोड़ के जगह से 30 मीटर पहले ठोकर या तिखा मोड का साइन बोर्ड लगावे।