बनारी रेंजर द्वारा लकड़ी तस्करों के मिलीभगत से जंगल उजाड़ने की कार्रवाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी : जेएनडी

बसंत कुमार गुप्ता

गुमला: झारखंड नवनिर्माण दल से जुड़े जंगल बचाओ अभियान समिति बनारी वन क्षेत्र द्वारा 13 जुलाई 2021 को वन प्रमंडल पदाधिकारी लोहरदगा को शिकायत पत्र सौंपने का निर्णय लिया गया है । विदित हो कि बनारी वन क्षेत्र के हाड़ुप के रिसापाठ में दर्जनों सुखवा का पेड़ लकड़ी तस्करों द्वारा काट कर ले जाने के क्रम में ग्रामीणों द्वारा लकड़ी लदी वाहन जब्त की गई । लेकिन हमेशा की तरह रेंजर द्वारा बड़े ठेकेदारों को बचाने का काम किया जा रहा है । ऐसे बनारी रेंजर के मिलीभगत से हाड़ुप , जालिम , सेरेंदाग इत्यादि जगहों पर एक हज़ार से भी ज्यादा संख्या में सखुआ का पेड़ काटे गए हैं , जिसकी सूचना वन विभाग द्वारा अब तक सरकार को नहीं दी गई है और न ही विभागीय कार्रवाई हुई । इसका मतलब साफ है कि वन विभाग की मिलीभगत से बड़ी तादाद में लकड़ी तस्करों द्वारा करोड़ों का बेशकीमती लकड़ी काटे जा रहे हैं , जिसे जंगल बचाओ अभियान समिति बर्दाश्त किसी भी कीमत पर नहीं करेगी । लगातार हो रही सकवा पेड़ कटाई का मामला बीते 8 जुलाई 2021 को गुमला में हुई झारखंड नवनिर्माण दल की बैठक में उठने के बाद बैठक के निर्णयनुसार डी.एफ.ओ लोहरदगा से मिलने का निर्णय लिया गया है । शिकायत पत्र के माध्यम से डी.एफ.ओ लोहरदगा को बनारी रेंज एरिया में लाखों रुपए की लागत से बांस बखार सफाई योजना के नाम पर रेंजर द्वारा बरती गई भारी अनियमितता मामले की जांच की भी मांग रखी जाएगी और कार्रवाई नहीं होने की स्थिति में आंदोलन करने का भी निर्णय लिया गया है ।