आदिवासी छात्र संघ का स्थापना दिवस संपन्न

बसंत कुमार गुप्ता

गुमला.आदिवासी छात्र संघ गुमला द्वारा आदिवासी छात्र संघ का 20वीं स्थापना दिवस भालदम चट्टी में मनाया गया .कार्यक्रम का शुरुआत स्वर्गीय विश्वनाथ उरांव को श्रद्धांजलि देने के बाद किया गया जिनका निधन 3 जुलाई 2020 हो गया जो आदिवासी छात्र संघ के संस्थापक सदस्यों में से एक थे और वर्तमान में केंद्रीय कमेटी सदस्य सह लोहरदगा जिला सचिव थे ।
इस मौके पर सक्रिय सदस्य सुरेंद्र मिंज ने कहा आदिवासी छात्र संघ समाज का आवाज है जो कि कभी दबना नहीं चाहिए आदिवासी छात्र संघ का झंडा हमेशा बुलंद रहना चाहिए सरकार चाहे जिस भी पार्टी की हो कोई समाज का भला नहीं चाहता है सब के सब एक थाली के चट्टे बट्टे हैं सबको सिर्फ अपने निजी स्वार्थ की चिंता है वर्तमान सरकार भी पिछली सरकार की तरह झारखंडी विरोधी कार्य में लगी हुई है जिसका ताजा उदाहरण है जेपीएससी जिसमें भारी गड़बड़ी होने के बावजूद सरकार उसे रद्द नहीं करना चाहती, इसी प्रकार 1932 का मुद्दा हो या स्थानीय को 100% तृतीय एवं चतुर्थ वर्ग नौकरी में स्थान देना हो या जल, जंगल , जमीन का मामला हो किसी भी चीज में किसी को कोई मतलब नहीं सब के सब सिर्फ जुमलेबाजी है।
इसीलिए आज हमें हमारे आदिवासी छात्र संघ को और मजबूती प्रदान करना होगा क्योंकि आदिवासी छात्र संघ चाहे जिस भी पार्टी की सरकार हो हमेशा मुखर होकर समाज के लिए आवाज उठाता रहा है, इसलिए युवा भारी से भारी संख्या में आदिवासी छात्र संघ से जुड़े । इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से जिला संयोजक अनूप टोप्पो ,पूर्व जिला अध्यक्ष रंजीत उरांव, जिला अध्यक्ष अशोक भगत, सक्रिय सदस्य बिमल उरांव, गोडे उरांव, रुस्तम कुजूर, सुभाष टोप्पो, सोनू उरांव,आदि मौजूद थे।