पोषण के प्रति सभी जिलेवासी स्वयं जागरूक रहते हुए अन्य लोगों को भी करें जागरूक

सरायकेला से भाग्य सागर सिंह की रिपोर्ट

सरायकेला। पहली सितंबर से 30 सितंबर तक मनाए जाने वाले राष्ट्रीय पोषण माह के उदेश्यों के प्रति जिले के सभी लोगो को जागरूक करने के उद्देश्य से समाहरणालय परिसर से उपायुक्त अरवा राजकमल, उप विकास आयुक्त प्रवीण कुमार गागराई, जिला कोषागार पदाधिकारी एवं जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने संयुक्त रूप से जागरूकता वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मौके पर उपायुक्त ने बताया यह जागरूकता वाहन जिले के सभी प्रखंडों में निर्धारित तिथि के अनुसार घूम घूम कर सुदूरवर्ती गावो में निवास करने वाले लोगों को पोषण के प्रति जानकारी साझा कर जागरूक करेगी। इस अवसर ओर उपायुक्त द्वारा पोषण के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य कार्यक्रम में उपस्थित सभी पदाधिकारी व कर्मचारियों को पोषण से संबंधित शपथ ग्रहण कराया गया। उपायुक्त ने हस्ताक्षर अभियान कर लोगों को पोषण अभियान के प्रति जागरूक रहने एवं आसपास के लोगों को भी जागरूक करने हेतु अपील किया। उपायुक्त ने कहा सरकार द्वारा लोगों को पोषण के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से विभिन्न योजनाएं व अभियान चलाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया पोषण माह के तहत जिले मे 01 सितम्बर से 30 सितम्बर 2021 तक चलाये जा रहे इस अभियान के तहत जिले के सभी आँगनबाड़ी केंद्र से जुड़े बच्चों का वजन तथा हाइट मापी की जाएगी। जो बच्चे अति कुपोषित है उन्हें चिन्हित कर यूनिक प्लान के तहत उनके बेहतर इलाज हेतु उन्हें MPC मे एडमिट करना, जो बच्चे स्वस्थ हैं उन्हें घर पर ही इलाज कर लगातर उन बच्चों पर नजर बनाये रखना मुख्य उद्देश्य है। जिले मे 5 MPC है जिनमे कुल 45 बेड उपलब्ध है। स्वास्थ्य विभाग एवं समाज कल्याण विभाग के मध्य सही समन्वय ना होने के कारण जिले मे लगभग हजार की संख्या मे कुपोषित बच्चे होने के बावजूद मात्र 20-25 बच्चे ही एडमिट हुए है। जिला प्रशासन का यह प्रयास है कि जिले मे जो भी अति कुपोषित बच्चे है उन्हें MPC मे एडमिट कर स्वस्थ किया जाए तथा जो बच्चे कुपोषित है उन्हें कम्युनिटी मे रख के उनके बेहतर देख भाल एवं उनके वजन मे बढ़ोतरी किया जाए। उन्होंने कहा राज्य सरकार द्वारा प्राप्त निदेश के अनुसार योगा सेशन का भी आयोजन किया जायेगा। जिसके अंतर्गत सभी गर्भवती महिलाओं को उनके बेहतर स्वस्थ के लिए जानकारी दी जाएगी। वैसी माता जिनके बच्चे 6 माह से छोटे है उन्हें सही तरीके से स्तनपान एवं जो बच्चे 6 माह से 23 माह के मध्य है उन्हें स्तनपान के साथ साथ ऊपरी आहार और पोषक आहार किस प्रकार देना है इसकी जानकारी देना मुख्य उद्देश्य है। इस अवसर पर उप विकास आयुक्त प्रवीण कुमार गागराई, स्थापना उप समाहर्ता प्रमोद कुमार झा, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी शिप्रा सिन्हा, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी सुनील कुमार सिंह एवं सभी CDPO, सेविका दीदी सहित अन्य की उपस्थिति रही ।