अनुचित है नमाज के लिए कमरा आवंटित करना : धर्मेंद्र

रांची : भारतीय जनतंत्र मोर्चा के अध्यक्ष धर्मेंन्द्र तिवारी ने कहा कि झारखण्ड विधान सभा के मात्र तीन सदस्यों एवं कुछेक कर्मियों हेतु नमाज पढ़ने के लिए कमरा आवंटन करना अनुचित है। यह पूर्ण रूप से तुष्टिकरण की राजनीति है। संसद सहित अन्य राज्यों के विधानमंडलों की तरह झारखण्ड विधान सभा भी लोकतंत्र का पवित्र मंदिर है। लोकतंत्र के इस मंदिर में समाज के सभी वर्गों, धर्मावंलबियों के लिए एकरूपता होनी चाहिए। किसी के साथ भेदभाव नहीं होना चाहिए। श्री तिवारी ने कहा कि माननीय विधानसभा अध्यक्ष को चाहिए कि बहुसंख्यक धर्मावंलबियों सहित अन्य धर्मों को माननेवालों को भी वे विधान सभा परिसर में ही उपासना स्थल उपलब्ध कराये। ताकि राजनीति से इतर पक्ष-विपक्ष, सहित विधानसभा कर्मियों में आपसी समरसता, सौहार्द, भाईचारा तथा प्रेम बनी रहे। इस मामले में किसी तरह की राजनीति करना, सम्प्रदायिकता को हवा देना भी अनुचित है। 4 दिन का विधानसभा सत्र पक्ष विपक्ष आपसी टकराव में रह जाएंगे जनता का भला ना हो पाएगा। सरकार को बेरोजगारों को रोजगार कैसे मिले प्रदेश में युवा भटक रहे हैं इसकी चिंता करनी चाहिए। बहुत तरह की समस्याएं प्रदेश में हैं सरकार को जनहित में कार्य करना चाहिए ।सरकार का मान बढ़ेगा जब सभी को समभाव से देखेगी सभी धर्मों की अपनी-अपनी आस्था है। ख्याल सरकार को करनी चाहिए । जन समस्याओं को सुलझाने में सहयोग करना चाहिए। विपक्ष भी भटके न। झारखण्ड विधान सभा के मात्र तीन सदस्यों एवं कुछेक कर्मियों हेतु नमाज पढ़ने के लिए कमरा (वजु स्थल सहित) आवंटन करना अनुचित है, यह पूर्ण रूप से तुष्टिकरण की राजनीति है। संसद सहित अन्य राज्यों के विधानमंडलों की तरह झारखण्ड विधान सभा भी लोकतंत्र का पवित्र मंदिर है। लोकतंत्र के इस मंदिर में समाज के सभी वर्गों, धर्मावंलबियों के लिए एकरूपता होनी चाहिए। किसी के साथ भेदभाव नहीं होना चाहिए। श्री तिवारी ने कहा कि माननीय विधानसभा अध्यक्ष को चाहिए कि बहुसंख्यक धर्मावंलबियों सहित अन्य धर्मों को माननेवालों को भी वे विधान सभा परिसर में ही उपासना स्थल उपलब्ध कराये। ताकि राजनीति से इतर पक्ष-विपक्ष, सहित विधानसभा कर्मियों में आपसी समरसता, सौहार्द, भाईचारा तथा प्रेम बनी रहे। इस मामले में किसी तरह की राजनीति करना, सम्प्रदायिकता को हवा देना भी अनुचित है। 4 दिन का विधानसभा सत्र पक्ष विपक्ष आपसी टकराव में रह जाएंगे जनता का भला ना हो पाएगा। सरकार को बेरोजगारों को रोजगार कैसे मिले प्रदेश में युवा भटक रहे हैं इसकी चिंता करनी चाहिए। बहुत तरह की समस्याएं प्रदेश में हैं सरकार को जनहित में कार्य करना चाहिए ।सरकार का मान बढ़ेगा जब सभी को समभाव से देखेगी सभी धर्मों की अपनी-अपनी आस्था है। ख्याल सरकार को करनी चाहिए । जन समस्याओं को सुलझाने में सहयोग करना चाहिए। विपक्ष भी भटके न।