प्रसूता महिला को लेने पहुंची एम्बुलेंस आठ घंटे तक जर्जर सड़क में फंसी रही

गढ़वा से नित्यानंद दुबे की रिपोर्ट
गढ़वा: शुक्रवार को जिले के भवनाथपुर अस्पताल से अरसली गाँव में लेने आयी एक प्रसूति महिला को आठ घंटे तक जर्जर सड़क में फंसी रही। बाद में एम्बुलेंस बुलाकर मरीज को इलाज के लिए भेजा गया।
जानकारी के अनुसार मौलाना ग्यासुद्दीन अंसारी की बीमार पत्नी तस्मिरा खातून और उसके 6 दिन के नवजात को लेने के लिए आयी थी। एम्बुलेंस मरीज की हालत खराब देखकर वंशीधर नगर से दूसरी
गुरूवार की रात गंभीर रूप से बीमार तस्मिरा खातून और उसके नवजात को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भवनाथपुर अस्पताल ले जाने के लिए भवनाथपुर सीएचसी में 108 पर कॉल कर एंबुलेंस बुलाई गयी थी। घर से कुछ दूर पहले एक बड़े गड्ढे में जाने के कारण एम्बुलेंस फंस गई.तमाम प्रयास के बाद भी जब एम्बुलेंस रात में नहीं निकल पायी तो श्री बंशीधर नगर से 108 एंबुलेंस बुलाकर मरीज को भेजा गया. इससे 8 घंटे रोड बाधित रहा.
शुक्रवार की सुबह एम्बुलेंस को निकालने के लिए स्थानीय लोगों ने काफी प्रयास किया, लेकिन एम्बुलेंस नहीं निकल सका। सूचना मिलने पर समाजसेवी जावेद ने अपने ट्रैक्टर व ग्रामीणों की मदद से एंबुलेंस को 8 घंटे बाद निकाला गया।
इस स्थिति के मद्देनजर स्थानीय लोगों ने तुरंत गांव की सड़क की मरम्मत कराने की मांग प्रखंड विकास पदाधिकारी मुकेश मछुआ से की है।
ग्रामीण सुदर्शन प्रजापति, मंदिश प्रजापती, महेंद्र भुइयां, अजय राम, शेखावत, गुलाम अंसारी, अवध बियार, कादिर, दयानंद प्रजापति, कोदू अंसारी, शहरुद्दीन अंसारी, विकास कुमार आदि ने बताया कि अरसली उतरी पंचायत पर ना तो किसी जनप्रतिनिधि का ना ही मुखिया का कोई ध्यान रहा है।