श्रद्धा एवं भक्ति के साथ मनाया गया अनंत चतुर्दशी

– भक्ति पूर्वक की गई भगवान विष्णु की पूजा
गोड्डा/महागामा: अनंत चतुर्दशी का त्योहार रविवार को  जिला भर में श्रद्धा, भक्ति एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। वहीं मंदिर के पुजारी ने बताया कि  इस दिन भगवान विष्णु के अनंत रूप की पूजा की जाती है और व्रत रखा जाता है। इसी दिन पूजा के बाद लोग अनंत सूत्र भी बांधते हैं।
अनंत चतुर्दशी का महत्व एक और चीज के लिए बेहद खास है। इसी दिन गणपति को 10 दिन पूजा के बाद विदाई भी दी जाती है और विसर्जन किया जाता है।.अनंत चतुर्दशी पर अनेक कारणों से भगवान विष्णु की पूजा. इस दिन पूरे मन से पूजा करने से कर्ज में फंसे और विवादों में उलझे लोगों की समस्या खत्म होती है। आज के दिन पूजा करने से सुखों में वृद्धि होती है और स्वास्थ्य लाभ मिलता है।बता दें कि इस पूजा की शुरुआत महाभारत काल से ही हुई।मान्यता है कि जब युधिष्ठिर दुख में थे तो भगवान विष्णु ने उन्हें एक धागा बंधवाया था जिसे अनंत चतुर्दशी के नाम से जाना जाता हैं।