अंडा खिलाने वाली कंपनी अब गरीबों को चावल खिलाएगी, इसे कतई बर्दाश्त नहीं कर सकता:  इरफान

जामताड़ा से राजकिशोर सिंह की रिपोर्ट
जामताड़ा: आज परिवहन अभिकर्ता(door step delivery) का एक शिष्टमंडल जामताड़ा विधायक डॉक्टर इरफान अंसारी से मिलने उनके आवास पहुंचे। मौके पर उपस्थित अभीकर्ताओं ने NEML द्वारा किया जा रहा निविदा का जोरदार विरोध किया। बताया गया कि यह निविदा पूर्व की रघुवर सरकार मे किया गया जिसको लेकर पूरे समाज में भारी आक्रोश है। पूर्व की व्यवस्था में यहां के स्थानीय लोगों को इसका लाभ मिलता था और रोजगार के साधन थे। निविदा में जानबूझकर ऐसे ऐसे क्लाउसेस लगा दिया गया है जिससे यहां के छोटे व्यापारी या स्थानीय लोग पूरा नहीं कर सकेंगे। ऐसे में हम लोगों का आग्रह है की पूर्व की ही व्यवस्था को लागू किया जाए एवं NEML द्वारा किया जा रहा निविदा को रद्द किया जाए।

मौके पर विधायक  ने मामले को गंभीरता से सुना और कहा कि अंडा खिलाने वाली कंपनी अब झारखंड में चावल खिलाएगी। इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया सकता। पूर्व की भाजपा सरकार में इस कंपनी को अंडा खिलाने का टेंडर दिया गया था जिसका मैंने पुरजोर विरोध किया था कारणवश टेंडर रद्द हो गया।फिर से जानबूझकर एक साजिश के तहत भारी एवं मोटी रकम का लेनदेन कर गरीबों को चावल खिलाने का काम महाराष्ट्र की कंपनी को ई-टेंडरिंग का काम दे दिया गया। परंतु अब राज्य में हेमंत सोरेन जी की सरकार है जो निष्पक्ष रूप से काम कर रही है और यहां क्या स्थानीय लोगों को लाभ देने का काम कर रही है। पूरे मामले को लेकर में मुख्यमंत्री से मिलूंगा और मुझे पूर्ण विश्वास है की पूरे मामले की जांच होगी और पहले जैसी ही व्यवस्था फिर से लागू किया जाएगा। पूर्व की व्यवस्था से यहां के स्थानीय लोगों को काफी लाभ मिल रहा है और कम से कम 20 से 25 हज़ार परिवार इससे लाभान्वित हैं। यहां के छोटे व्यापारी एवं गरीब वर्ग काफी उम्मीद और भरोसा के साथ सरकार का गठन किया है। ऐसे में लोगों के साथ उचित न्याय होगा यह मैं पूरा भरोसा दिलाता हूं।