बिजली की लचर व्यवस्था से नाराज आक्रोशित ग्रामीणों ने सबस्टेशन में जड़ा ताला

महेंद्र कुमार यादव

चतरा: रोजाना बिजली की आंख-मिचौली और लचर व्यवस्था से परेशान कान्हाचट्टी प्रखंड के ग्रामीणों का धैर्य बुधवार को जवाब दे गया। नाराज होकर आक्रोशित ग्रामीण ढेबरो सबस्टेशन के गेट में ताला जड़ दिया और वहीं धरना पर बैठ गए। इस दौरान ग्रामीणों ने बिजली विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और अधिकारियों को जमकर कोसा। ग्रामीणों का कहना था कि बार-बार बिजली गुल होना रोजाना की समस्या बन गई है। दिनभर यह सिलसिला चलता रहता है। कई बार तो लंबे समय तक बिजली गुल रहती है। रात में बिजली का कोई ठिकाना नहीं रहता कि कब बिजली आए और कब चली जाए। कई बार तो रातभर बिजली गुल रहती है। दो से तीन घंटे ही लाइट दी जा रही है। इधर लोगों को आक्रोशित देख बिजली विभाग के अधिकारियों को वस्तुस्थिति से अवगत कराया। इस बाबत जे.ई अशोक कुमार को फ़ोन पर भाजपा प्रखंड अध्यक्ष सतीश सिंह, मदगडा पंचायत के मुखिया योगेश यादव, क्षत्रिय समाज के सभापति गोपाल सिंह, पूर्व मुखिया आफताब हुसैन ने उन्हें जमकर खरी-खोटी सुनाई। लोगों का कहना है कि बिजली गुल होने पर अधिकारियों से बात करते हैं तो वे मोबाइल नहीं उठाते। यदि बात करते हैं तो आगे से बिजली कट होने का बहाना लगाकर समस्या को टाल देते हैं। लोगों की नाराजगी को देखते हुए एक बार तो अधिकारी बगले झांकने लगे। बाद में जे ई अशोक कुमार द्वारा जनता ओं को समझाने के बाद लोग शांत हुए। बिजली विभाग के अधिकारियों द्वारा व्यवस्था सुधारने का आश्वासन देने के बाद ग्रामीणों ने धरना समाप्त किया।

ग्रामीणों ने तीन दिन पहले ही दी थी चेतावनी

ग्रामीणों ने कहा कि जब घरेलू बिजली का यह आलम है तो सिंचाई के लिए बिजली का कोई ठिकाना ही नही है। इन दिनों बरसात की अनियमितता के चलते फसलों को पानी जरूरत पड़ने लगी है। ऐसे में बिना बिजली के सिंचाई कैसे हो। ग्रामीणों ने कहा कि बिजली व्यवस्था में सुधार की मांग को तीन दिन में व्यवस्था में सुधार नहीं होने पर धरना-प्रदर्शन की चेतावनी दी थी। इस मौके राजकुमार सिंह, राकेश केसरी, प्रमोद सिंह, युवा नेता अवधेश सिंह (गुजुन), संतोष कुमार, सुखदेव सिंह, विकास केसरी , सुमित केसरी ,संदीप केसरी एवम् सैकड़ों प्रखंड वासी उपस्थित थे।