जिले में लगभग 2000 कोरोना संक्रमित मरीज होम आईसोलेशन में निवासरत हैं : उपायुक्त

उपायुक्त गुमला ने जिला प्रशासन गुमला एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिले में कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजों के समुचित ईलाज हेतु किए जा रहे कार्यों की जानकारी साझा की

: जिला कोविड अस्पताल के 45 बेडों को ऑक्सिजन पाईपलाइन से जोड़कर चालू कर दिया गया है- उपायुक्त

 निरंतर मास्क एवं सैनेटाईजर का उपयोग करें, अनावश्यक अपने घरों से बाहर न निकलें- उपायुक्त

गुमला : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार के रोकथाम तथा नियंत्रण के मद्देनजर उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा ने आज जिला प्रशासन गुमला एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा गुमला जिले में कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजों के समुचित ईलाज हेतु किए जा रहे कार्यों की जानकारी साझा की।

उपायुक्त ने बताया कि जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों के समुचित ईलाज हेतु पूर्व में 111 ऑक्सिजन युक्त बेड उपलब्ध थे। वर्तमान में सदर अस्पताल में पाईपलाइन बिछाने का कार्य पूर्ण करते हुए जिला कोविड अस्पताल के 45 बेडों को ऑक्सिजन पाईपलाइन से जोड़कर निर्बाध ऑक्सिजन उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके अतिरिक्त 55 और बेडों को भी पाईपलाईन के माध्यम से शीघ्र ही ऑक्सिजन की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इस तरह जिले में कुल 211 ऑक्सिजन युक्त बेडों के माध्यम से कोरोना संक्रमण से प्रभावित गंभीर मरीजों का उच्चतम ईलाज किया जाएगा।

उपायुक्त ने आगे बताया कि कोरोना संक्रमण से प्रभावित गंभीर मरीजों के उच्चतम ईलाज हेतु ऑक्सिजन की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने के उद्देश्य से हिंडाल्को के साथ समन्वय स्थापित करते हुए “डी टाईप” ऑक्सिजन सिलिंडरों की आपूर्ति अविलंब करने का निर्देश दिया गया है। ताकि जरूरतमंद मरीजों का बेहतर ईलाज संभव हो सके।

उपायुक्त ने होम आईसोलेशन में रहने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों की जानकारी साझा करते हुए बताया कि जिले में लगभग 2000 कोरोना संक्रमित मरीज होम आईसोलेशन में निवासरत हैं। इन सभी कोरोना संक्रमित मरीजों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा सहिया के माध्यम से उनके घर-घर जाकर मेडिकल किट, मास्क, सैनेटाइजर आदि उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि जिले में लगातार कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को दृष्टिपथ करते हुए जनसाधारण की सुविधा के लिए सूचना भवन गुमला में जिला कोविड नियंत्रण कक्ष तथा सदर अस्पताल गुमला में संचालित कोविड चिकित्सीय नियंत्रण कक्ष के माध्यम से 24×07 होम आईसोलेशन में निवासरत कोरोना संक्रमित मरीजों के स्वास्थ्य की सतत् निगरानी रखी जा रही है। इसके साथ ही प्रखंड स्तर पर प्रखंड सूचना केंद्र संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी के पर्यवेक्षण में कार्यरत है। उन्होंने आगे बताया कि होम आईसोलेशन में निवासरत कोरोना संक्रमित मरीजों के स्वास्थ्य का सतत् अनुश्रवण तथा दैनिक निगरानी प्रतिदिन सूचना भवन में संचालित जिला कोविड नियंत्रण कक्ष में प्रतिनियुक्त कर्मियों द्वारा दूरभाष के माध्यम से रखी जा रही है। वहीं सदर अस्पताल गुमला में संचालित कोविड चिकित्सीय नियंत्रण कक्ष के द्वारा उक्त मरीजों को आवश्यक चिकित्सीय परामर्श भी प्रदान किया जा रहा है। सूचना भवन में स्थित जिला कोविड नियंत्रण कक्ष का दूरभाष संख्या 06524-223087 तथा 06524-295030 है। इसी तरह सदर अस्पताल में संचालित कोविड नियंत्रण कक्ष का मोबाइल नंबर 9308614806 है। उपायुक्त ने अपील किया है कि उपरोक्त नंबरों पर होम आईसोलेशन में रहने वाले मरीज अपने स्वास्थ्य की स्थिति के संबंध में अपनी जानकारी दे सकते हैं तथा कोविड से संबंधित जानकारी प्राप्त भी कर सकते हैं।

उपायुक्त ने रेमडेसिविर की जानकारी साझा करते हुए बताया कि वर्तमान में सदर अस्पताल में रेमडेसिविर के 80 वायल सहित गुमला जिले में कुल 117 वायल उपलब्ध हैं।

उपायुक्त ने जिलेवासियों से निरंतर मास्क एवं सैनेटाईजर का उपयोग करने, साबुन से अपने हाथ धोने, अनावश्यक अपने घरों से बाहर न निकलने तथा सामाजिक दूरी के नियमों का अक्षरशः अनुपालन करने की अपील की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *