पोषण जागरूकता अभियान का समापन पर उत्कृष्ट कार्य करने वाली सेविका व सहायिकाओं को किया गया पुरस्कृत

गढ़वा: गुरुवार को जिले में एक माह से चल रहे पोषण अभियान का समापन समारोह जिला परिषद सभागार में आयोजित हुआ। इसके तहत आयोजित कार्यक्रम के प्रतिभागियों को उप विकास आयुक्त सत्येंद्र नारायण उपाध्याय, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी पूर्णिमा कुमारी व डीपीएम जेएसएलपीएस सुरेश सिंह के द्वारा पुरस्कृत किया गया।

जिला स्तरीय पोषण अभियान समापन समारोह में पोषण माह जागरूकता अभियान के दौरान प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में बेहतर प्रदर्शन एवं पोषण माह के दौरान सर्वाधिक गतिविधियों को आयोजित कराने के आधार पर आंगनबाड़ी सेविका व सहायिकाओं को पुरस्कृत किया गया। जिसमें आंगनवाड़ी केंद्र खरवारी टोला, टिकुलडीहा (परियोजना-भवनाथपुर) की सेविका रेखा कुमारी व सहायिका मंजू देवी को प्रथम पुरस्कार, आंगनवाड़ी केंद्र कहांर टोला, बिशुनपुरा (परियोजना- नगर उंटारी) की सेविका निर्मला देवी व सहायिका गायत्री देवी को द्वितीय पुरस्कार तथा आंगनवाड़ी केंद्र फरठिया -1 (परियोजना- गढवा) की सेविका प्रमिला देवी व सहायिका सुमित्रा देवी को तृतीय पुरस्कार दिया गया। मौके पर उप विकास आयुक्त व जिला समाज कल्याण पदाधिकारी के द्वारा 2 गर्भवती महिलाओं की गोदभराई व 1 बच्चे का अन्नप्राशन भी किया गया।

कार्यक्रम में उप विकास आयुक्त ने उपस्थित सेविका, सहायिका व महिला पर्यवेक्षिकाओं को जमीनी स्तर पर जाकर ग्रामीणों की समस्याओं को समझते हुए उन्हें पोषण के प्रति जागरूक करने की बात कही। उन्होंने कहा कि पोषण के प्रति जागरूकता की शुरुआत आप सभी अपने परिवार से ही करें, इसके बाद सभी सेविका, सहायिका व पर्यवेक्षिका अपने क्षेत्र अंतर्गत आने वाले परिवारों कुपोषण मुक्त बनाने के कार्य में जुट जाएं। सही खानपान व बेहतर दिनचर्या ही स्वस्थ शरीर का मंत्र है। उन्होंने बताया कि वर्तमान समय में सिर्फ खाने की कमी ही कुपोषण का कारण नहीं है बल्कि गलत खानपान, जंक फूड का सेवन व आलस्य पूर्ण दिनचर्या भी हमें कुपोषण की ओर ले जा रही है, ऐसे में हम सभी को यह प्रण लेना चाहिए हम अपनी व्यस्त दिनचर्या में से कुछ समय अपने बच्चों तथा स्वयं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए निकालें। मौके पर जिला समाज कल्याण पदाधिकारी व डीपीएम जेएसएलपीएस ने भी सभी को पोषण की महत्ता से अवगत कराया तथा कुपोषण को दूर करने के विषय में अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का संचालन महिला पर्यवेक्षिका शिमला सिंह व धन्यवाद ज्ञापन महिला पर्यवेक्षिका प्रतिमा कुमारी के द्वारा किया गया।