टाटा मोटर्स और टाटा कमिंस का मुख्यालय पुणे शिफ्ट करने का प्रयास झारखंड और स्थानीय लोगों के खिलाफ एक बड़ी साज़िश : झामुमो

17 नवम्बर को 12 घंटे तक प्रदर्शन करते हुए कोल्हान प्रमंडल में स्थित टाटा समूह के तमाम प्रतिष्ठानों ( कल-कारखानों एवं खदानों तथा ट्रांसपोर्ट ) को ठप्प करेगी झामुमो

जिला में सभी आन्दोलनात्मक कार्यक्रम जिला अध्यक्ष सह विधायक सुखराम उरांव के नेतृत्व में सम्पन्न होगा 

रामगोपाल जेना
चाईबासा : झारखंड सरकार ने झारखंड के स्थानीय लोगों के हित में यह निर्णय लिया है कि झारखंड स्थित सभी निजी कम्पनियों को अपने अपने प्रतिष्ठानों में 75% स्थानीय लोगों को बहाल करना होगा इस बाध्यता से बचने के लिए टाटा मोटर्स और टाटा कमिंस का मुख्यालय पुणे (महाराष्ट्र) शिफ्ट किया जा रहा है । मुख्यालय शिफ्ट होने से झारखंड में उक्त प्रतिष्ठान से जुड़े लगभग 15 हजार कर्मचारी बेरोजगार हो जाएंगे, साथ ही मजदूरों अथवा कर्मचारियों के साथ किसी भी तरह के विवाद की स्थिति में न्याय के लिए महाराष्ट्र के न्यायालय के ही शरण में जाना होगा । टाटा समूह के इस फैसले से झारखंड को राजस्व का भी नुकसान होगा । जाहिर है टाटा मोटर्स और टाटा कमिंस का मुख्यालय पुणे शिफ्ट करने का प्रयास झारखंड और झारखंड के स्थानीय लोगों के खिलाफ एक बड़ी साज़िश का हिस्सा है । यह झारखंड और झारखंड के स्थानीय लोगों के हितों के साथ खिलवाड़ है । झारखंड मुक्ति मोर्चा इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगा । कारखाना यहां और मुख्यालय कहीं और ये नहीं चलेगा । झारखंड मुक्ति मोर्चा इसका कड़ा प्रतिरोध करते हुए निर्णय वापस लेने तक टाटा समूह के खिलाफ चरणबद्ध आंदोलन करेगा । इसी कड़ी में केन्द्रीय नेतृत्व के निर्देश के आलोक में विगत 11 नवंबर को जमशेदपुर में सम्पन्न प्रमंडल स्तरीय आपात बैठक में कोल्हान प्रमंडल में पार्टी के सभी विधायकों एवं तीनों जिलों के जिला अध्यक्ष एवं सचिव के द्वारा लिए गए सर्वसम्मत निर्णयानुसार आगामी 17 नवम्बर को 12 घंटे तक प्रदर्शन करते हुए कोल्हान प्रमंडल में स्थित टाटा समूह के तमाम प्रतिष्ठानों ( कल-कारखानों एवं खदानों तथा ट्रांसपोर्ट ) को पूरी तरह से ठप्प करने का निर्णय लिया गया है । प० सिंहभूम जिला में भी उक्त आन्दोलनात्मक कार्यक्रम को पूरी तरह से सफल बनाने को लेकर आज दिनांक 13 नवंबर 2021 को परिसदन भवन चाईबासा में झारखंड मुक्ति मोर्चा, प० सिंहभूम जिला समिति का एक विशेष बैठक सम्पन्न हुआ । जिला अध्यक्ष सह विधायक सुखराम उरांव के परिवार में उनके भतीजे का आकस्मिक निधन हो जाने के कारण उनके अनुपस्थिति में जिला उपाध्यक्ष दीपक प्रधान के अध्यक्षता में उक्त बैठक सम्पन्न किया गया । बैठक में निर्णय लिया गया कि 17 नवम्बर को सुबह 6.00 बजे से लेकर रात 6.00 बजे तक टाटा समूह के नोवामुंडी स्थित बोकारो साइडिंग तथा बड़ाजामदा के बरायबुरु स्थित खदान गेट और उषा मार्टिन गेट को पूरी तरह से जाम कर दिया जाएगा । इस आन्दोलन में पारम्परिक हथियारों के साथ झामुमो अपने पुराने रुप एवं तेवर में नजर आएगा । आन्दोलनात्मक कार्यक्रम को सुचारू रूप से संचालित करने के लिए जिला अध्यक्ष के निर्देशानुसार सात सदस्यीय तैयारी समिति का गठित किया गया है जिसमें जिला सचिव सोनाराम देवगम, जिला उपाध्यक्ष दीपक कुमार प्रधान, इकबाल अहमद, राहुल आदित्य, जिला कोषाध्यक्ष सुभाष बनर्जी, जिला संगठन सचिव रंजीत यादव और जिला सहसचिव सुनील कुमार सिरका शामिल हैं । तैयारी के सिलसिले में कल दिनांक 14 नवंबर को नोवामुंडी के पीडब्ल्यूडी गेस्ट हाउस में नोवामुंडी एवं जगन्नाथपुर प्रखंड का संयुक्त बैठक आहूत किया गया है तैयारी समिति के सभी सदस्य उक्त बैठक में शिरकत करेंगे । आज बैठक में सोनाराम देवगम, इकबाल अहमद, राहुल आदित्य, सुभाष बनर्जी, सुनील कुमार सिरका, योगेन्द्र नाथ बिरुवा, रंजीत यादव, डोमा मिंज, मोनिका बोयपाई, निसार हुसैन उर्फ डोगर, प्रेम मुंडरी, मो० अकिल, अम्बिका रजक, सोहेल अहमद, राजकिशोर बोयपाई, चुमन लाल लागुरी, संदेश सरदार, राजेश पिंगुवा, राहुल तिवारी, जितेन्द्र पुरती, डिम्बू तियु, संजय हासदा, मुन्ना खान, लखन हेम्बरोम, सोहन माझी, मनसुख गोप, मनोज लागुरी, रिमु बहादुर थापा, जरीफ अहमद, उदय जयसवाल, ताराकान्त सिजुई, शेखर बारिक, संजय प्रधान, कुलदीप महतो, तीरथ जामुदा, सरवर नेहाल, जगबंधु गोप, गोकुल पोलाई, मो० मोजाहिद, समेत कई अन्य उपस्थित थे – जिला में सभी आन्दोलनात्मक कार्यक्रम जिला अध्यक्ष सह विधायक सुखराम उरांव के नेतृत्व में सम्पन्न होगा ।