बच्चे के मौत मामले ने पकड़ा तूल, पूर्व विधायक ने किया मृतक के परिजनों से मुलाकात, किया जांच की माँग

चिकित्सक द्वारा ईलाज में लापरवाही और उल्टा मृतक के परिजनों पर झूठा केश दर्ज कराना दुर्भाग्य : मनोज यादव

चौपारण से बिपिन बिहारी पाण्डेय

चौपारण (हजारीबाग) : पायल फार्म निजी क्लीनिक में ईलाज के दौरान पपरो निवासी महेश भुइयाँ के चार वर्षीय मासूम पुत्र के मौत मामले ने तूल पकड़ लिया है। एक ओर जहां पीड़ित परिवार ने सरकारी अस्पताल में कार्यरत डॉ धीरज पर निजी क्लीनिक पर ईलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए चौपारण थाना में डॉ धीरज व पायल फार्मा पर मामला दर्ज करवाया वही डॉ धिरज ने उल्टा परिजनों पर रंगदारी माँगने का आरोप लगाते हुए केश दर्ज करवा दिया। इधर पूर्व विधायक मनोज कुमार यादव अपने भाजपा नेताओं संग पीड़ित परिवार से मिलने पपरो पहुँचे। जहां पीड़ित परिवार ने पूर्व विधायक से डॉक्टर धीरज व पायल फार्मा पर आरोपो का झड़ी लगा दिया। पीड़ित परिवार का आरोप है कि अपने अपराधो के कुरित्य को छिपाने के लिए डॉक्टर धिरज ने हमलोगों पर रंगदारी का केश दर्ज करवा दिया। इस दौरान पूर्व विधायक ने घटना के प्रति अपनी सवेदना प्रकट करते हुए कहा कि घटना की जितना निंदा किया जाय कम होगा। मौके पर भाजपा जिला उपाध्यक्ष राजेश सहाय ,भाजपा एसी मोर्चा के जिला उपाध्यक्ष रामस्वरूप पासवान ,भाजपा के महामंत्री आशिष सिंह ,प्रमुख प्रतिनिधि विराज रविदास ,संतोष पासवान आदि उपस्थित रहे।पीड़ित परिवार से मिलकर पूर्व विधायक मनोज कुमार यादव ने कहा कि डॉ की लारवाही से बच्चे की मौत हुवा है और उल्टी चिकित्सक द्वारा पीड़ित परिवार पर केश दर्ज करना दुर्भाग्य। पूर्व विधायक ने कहा कि बीते 15 वर्षो से एक ही स्थान पर डॉ धीरज प्रतिनियोजित है। कहा अपने उलूल झुलल कार्यो से विवादों में रहते है डॉ धीरज। कहा आकडो को देखा जाए तो दर्जनों बच्चो का मौत डॉ धीरज के लापरवाही के कारण हुवा है। कहा कि डॉ धीरज के विरुद्ध भ्रूण जांच से अनैतिक एवं गैर कानूनी कार्य के लिये जिला स्तरीय टीम द्वारा छापामारी भी कि जा चुकी है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *