बड़े डिफॉल्टरों को चिन्हित कर कड़ी कार्रवाई के निर्देश

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो:  बोकारो परिसदन सभागार में सोमवार को राजस्व पार्षद झारखंड के सदस्य अमरेंद्र प्रताप सिंह ने उपायुक्त कुलदीप चौधरी समेत अन्य जिले के वरीय अधिकारियों के साथ बैठक की।

बैठक क्रम में उन्होंने जिले में लंबित नीलाम पत्र वाद की जानकारी ली साथ ही ऐसे मामलों के निष्पादन में तेजी लाने का निर्देश दिया। उन्होंने रणनीति के तहत इस दिशा में संबंधित विभागों के अधिकारियों को पहल करने को कहा। श्री सिंह ने बड़े डिफॉल्टरों को चिन्हित कर उनकी सूची तैयार करने उनके विरुद्ध राजस्व वसूली के लिए कार्रवाई करने को कहा है।

बैठक में जिला नीलाम पदाधिकारी रामचंद्र पासवान को क्रमवार 1 से 5 लाख, 5 से 10 लाख, 10 से 15 लाख एवं इससे बड़े डिफॉल्टरों की सूची तैयार करने, साथ ही कितने दिनों से ऐसे मामले लंबित हैं। इसकी जानकारी एकत्र कर कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए बड़े मामलों पर ध्यान देने को कहा।

वहीं, कमर्शियल टैक्स के मामलों में डिफॉल्टरों से संबंधित दस्तावेजों को तैयार करने के लिए विभागीय अधिकारी को निर्देश दिया।

बैठक में उपस्थित जिला परिवहन पदाधिकारी संजीव कुमार से उनके विभाग में टैक्स डिफॉल्टरों एवं उससे संबंधित लंबित मामलों की जानकारी ली। डीटीओ ने बताया कि लगभग ढाई हजार ऐसे मामले हैं, ज्यादातर मामले काफी पुराने हैं। राजस्व पार्षद सदस्य श्री सिंह ने कहा कि एक लाख से ऊपर के मामलों को चिन्हित कर संबंधित क्षेत्रों के अनुमंडल पदाधिकारी/ डीसीएलआर निष्पादन की कार्रवाई करें। उन्होंने वर्ष 2010 के बाद के मामलों पर कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने अभियान चलाकर कमर्शियल ट्रैक्टर ट्रॉली/ट्रेलर को पंजीकरण करने का निर्देश दिया।

समीक्षा क्रम में उत्पाद विभाग से संबंधित दायर नीलाम पत्र वाद की जानकारी ली। उत्पाद विभाग के अधिकारी ने बताया कि वर्ष 2000 के कुल 21 मामले हैं। ऐसे मामलों में फर्जी नाम पता होने के कारण तमिला करने में परेशानी होती है। इस बाबत राजस्व पार्षद के सदस्य ने जरूरी दिशा निर्देश दिया।

राजस्व पार्षद सदस्य अमरेंद्र प्रताप सिंह ने उपायुक्त कुलदीप चौधरी, उप विकास आयुक्त जय किशोर प्रसाद, अपर समाहर्ता सादात अनवर आदि को राजस्व वसूली के दिशा में ठोस पहल करने का निर्देश दिया। वहीं, कई अन्य बिंदुओं पर भी विस्तार से चर्चा की।

बैठक में अनुमंडल पदाधिकारी चास दिलीप प्रताप सिंह शेखावत, डीसीएलआर चास, अपर नगर आयुक्त चास अनिल कुमार सिंह, कार्यपालक दंडाधिकारी छवि बाला, सामाजिक सुरक्षा सहायक निदेशक रवि शंकर मिश्रा, सहायक जनसंपर्क पदाधिकारी अविनाश कुमार समेत अन्य अधिकारी व कर्मी उपस्थित थे ।