महागामा में बंद समर्थकों को एक घंटे रखा गया हिरासत में

शंकर सुमन/जावेद अख्तर की रिपोर्ट
महागामा: सोमवार को महागामा प्रखंड क्षेत्र के केंचुआ चौक पर भारत बंद के समर्थन में सड़क पर उतरे महागठबंधन के दर्जनों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लेकर महागामा थाना लाया । सभी कार्यकर्ता को करीब एक घंटे तक महागामा थाना में हिरासत में रखा गया। इसके बाद पीआर बॉन्ड भराकर  सभी कार्यकर्ताओं को छोड़ दिया गया। गिरफ्तारी देने वाले कार्यकर्ताओं में कांग्रेस के पूर्व विधायक राजेश रंजन, माकपा नेता अशोक साह, मृत्युंजय सिंह, श्रवण मंडल, अनिल सिंह, नरेन्द्र कुमार ठाकुर, मो इब्राहिम, कैलाश कुमार, जितेंद्र कुमार, पवन कुमार राम, मो फिदा हुसैन सहित अन्य कार्यकर्ता शामिल थे।
भारत बंद को सफल बनाने के लिए महागामा अनुमंडल मुख्यालय स्थित गंगा सागर मोड़ पर गैर भाजपा दलों के नेताओं का जुटान सुबह करीब 8 बजे से होने लगा था। महागठबंधन के नेता एवं कार्यकता केंद्र सरकार एवं कृषि कानूनों के खिलाफ नारे लगा रहे थे। कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष इरफान काजी ने कहा कि किसान भाइयो के साथ हमलोग आंदोलन करते रहेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के आह्वान पर हम कांग्रेस के सिपाही पूरे देश मे किसानों के साथ हैं। यूथ कांग्रेस अध्यक्ष मिनहाजुल हक ने कहा कि तब तक भाजपा सरकार काले कृषि कानून वापस नही लेती है, तब तक आंदोलन जारी रहेगा। एनएसयूआई जिलाध्यक्ष मुन्ना राजा ने कहा कि भाजपा सरकार ने युवाओं, छात्रों एवं किसानों के साथ सिर्फ धोखा किया है। मोदी सरकार अंधी बहरी हो चुकी है। किसान आंदोलन के प्रति भाजपा सरकार तानाशाही तरीके से पेश आ रही है। इस कार्यक्रम में कांग्रेस नेता मुखिया शंकर राम, श्रवण मंडल, विपिन बिहारी, रंजना झा, उमेश झा, प्रवीण मिश्रा, सोनू ,नावेद, इम्तियाज, मुस्ताक, अजीमुद्दीन अंसारी समेत राजद, झामुमो, वामपंथी दलों के कार्यकता उपस्थित रहे।