रिश्वत को लेकर उपायुक्त को लाभुकों ने सौंपा आवेदन

ब्लॉक में मची रिश्वत की अहंकार

इचाक: प्रखंड के हदारी पंचायत के दर्जनों लाभुकों ने रिश्वत से ग्रसित मनरेगा से जुड़े कर्मियों रोजगार सेवक चंदन कुमार एवं जेई सुनील कुमार पर लगाया रिश्वत जबरन मारने का आरोप । मनरेगा से हो रहे कार्यों पर जेई द्वारा 5 प्रतिशत की कमीशन एवं रोजगार सेवक द्वारा 10 प्रतिशत की कमीशन मांग किया जा रहा है। साथ ही फिलहाल एक कुआँ पर जेई के द्वारा 26000 हज़ार एवं रोजगार सेवक के द्वारा 38000 हज़ार रुपये की मांग किया जा रहा है और पदाधिकारियों द्वारा यह भी धमकी दिया जा रहा है कि जो पैसा नहीं देगा उसका मटेरियल का भुगतान नहीं किया जाएगा। एवं एक वर्मी कंपोस्ट में रोजगार सेवक द्वारा 1000 हज़ार रुपया हम सभी लाभुकों से लिया जा रहा है ।नहीं देने पर डिमांड जीरो जेई एवं रोजगार सेवक द्वारा कर दिया जाता है। जब हम लोग पैसे की डिमांड करने जाते हैं तो रोजगार सेवक एवं जेई द्वारा यह कह कर हम सभी लाभुकों को भगा दिया जाता है कि आपका कोई काम नहीं हुआ है। लाभुकों ने उपायुक्त से निवेदन किया है कि अतिशीघ्र इन भ्रष्ट पदाधिकारियों पर करवाई किया जाय, नहीं किया गया तो धरना प्रदर्शन पर उतारू हो जाएंगे । रोजगार सेवक चंदन कुमार ने कहा कि यह सारा आरोप बेबुनियाद है हमसे गलत काम लाभुकों ने करवाना चाह जो हमने नहीं किया। जेई सुनील कुमार ने कहा कि अधिक वर्षा होने के कारण कुआं एवं डोभा में पानी भर गया जिसे नापी नहीं होने के कारण पेमेंट रोका गया है। आवेदन देने वाले में प्रवीण कुमार, जागेश्वर मेहता, संत कुमार, शिव कुमार ,द्वारका प्रसाद मेहता, आशीष कुमार, विजय प्रसाद मेहता, श्री राम प्रसाद मेहता, नरेश मेहता ,चिंतामणि तूरी ,भोला प्रसाद मेहता, इंद्र राम, प्रदीप कुमार समेत दर्जनों लाभुक हैं।