भगवान भरोसे हैं मयूरहंड में बने क्वारेंटाइन सेंटर में रखे लोग, 21 लोगों को पहुंचा गया है क्वारंटाइन सेंटर में

मयूरहंड(चतरा)। मयूरहंड प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटरों में 21 लोगों को रखा गया है। सोकी पंचायत सचिवालय में 14, कदगांवा कला पंचायत सचिवालय में तीन, मंझगावा में तीन व मयूरहंड में एक को क्वारेंटाइन में रखा गया है। उपरोक्त सभी लोग मुंबई, गुजरात, हरियाणा, पुणे सहित अन्य दूसरे राज्यों के कंपनियों में काम करते थे और लॉक डाउन के कारण सभी कंपनियों के बंद होने के बाद अपने घर लौट आए हैं। लोगों के लौटने की जानकारी मिलते ही प्रखंड प्रशासन सक्रिय हो गई और नजदीकी पंचायत सचिवालय में रखवाने का कार्य किया है। जानकारी के अनुसार सभी को क्वारेंटाइन सेंटर में 14 दिनों तक रखा जाएगा। क्वारेंटाइन सेंटर में रखे गए लोगों के खाने, पीने सहित अन्य जरूरी सामानों की पूर्ति मुखिया व पंचायत सेवक करेंगे। वहीं दुसरी ओर जिन व्यक्तियों को क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया है उनका जीवन भगवान भरोसे है। सोकी पंचायत में क्वारेंटाइन किए गए एक व्यक्ती की गुरुवार को अचानक सांस लेने में दिक्कत महसूस हुआ, तो प्रखंड में कोई व्यवस्था नहीं होने की वजह से उसे हजारीबाग जिले के पदमा प्रखंड में निजी क्लिनीक में ले जाया गया। प्रखंड के संटरों में सिर्फ जैसे तैसे खाने की व्यवस्था की गई है। जबकी स्वास्थ्य सुविधाएं एएनएम व सहिया पर निर्भर है। जबकी प्रखंड में एएनएम को भी किसी प्रकार की सुविधाएं नही उपलब्ध कराया गया है। ऐसे में कोरोना जैसे महामारी से निपटने की उचित व्यवस्था नहीं होने से प्रखंड वासियों में दहशत का माहौल है। जबकी प्रखंड में बाहर से आने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है और व्यवस्था के नाम पर यहां सिर्फ खानापूर्ति की जा रही हैं।