भारतीय जनतंत्र मोर्चा पूरे राज्य में जोर-शोर से चलाएगा सदस्यता अभियान

रांची : भारतीय जनतंत्र मोर्चा के केन्द्रीय पदाधिकारियों और विभिन्न जिला के पदाधिकारियों की बैठक आहूत किया गया। बैठक का मुख्य एजेन्डा ‘‘वृहत सदस्यता अभियान‘‘ पर फोकस था। बैठक में निर्णय लिया गया कि 25 सितम्बर को सदस्यता अभियान पंडित दीनदयाल उपाघ्यय के जन्म दिवस के अवसर पर शुभारम्भ राज्य के विभिन्न जिलों के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में किया जाएगा। इस अवसर पर
झारखंड विधानसभा के सदस्य और मोर्चा के संरक्षक सरयू राय ने कहा कि आमलोगों को जुड़ने के लिए मोर्चा के कार्यकर्ताओं को भारतीय जनतंत्र मोर्चा के संविधान, आदर्शों और आदर्श पुरूषों के संदर्भ में जानकरी लोगों को दिया जाएगा कि यह राजनीतिक पार्टी औरों से अलग क्यों है। इसकी विचारधारा क्या है। उन्होंने कहा कि जब तक अच्छे लोगों की भागेदारी राजनीतिक की तरफ नही होगी तब तक प्रदेश की भ्रष्टाचार मुक्त विकास सम्भव नही है। उन्होंने कहा कि 21 वर्ष का युवा झारखंड भ्रष्टाचार के दंश से पीड़ित और लहुलूहान हो गया है। आम-जनमानस इस कृत का भुक्तभोगी है। इस महा-अभिशाप से से मुक्त हेतु ही भारतीय जनतंत्र मोर्चा का उदय हुआ है। भारतीय जनतंत्र मोर्चा के केन्द्रीय अध्यक्ष धर्मेन्द्र तिवारी ने कहा कि कैसे सदस्यता अभियान को सफल बनाया जाएगा। किन चीजों को अपनाना होगा और किन चीजों से परहेज करना होगा। उन्होंने घोषणा किया कि सदस्यता अभियान प्रभारी के लिए सर्वसम्मति से रामनरायण शर्मा के साथ ही दो सह-प्रभारी राकेश पांडेय और संजीव आचार्य के नाम की घोषण किया। प्रत्येक जिलों में धनबाद जिला से नागेन्द्र सिंह प्रभारी और दीपक कुमार केसरी सह-प्रभारी, जमशेदपुर जिला से मनोज सिह उज्जैन प्रभारी राकेश कुमार झा सह-प्रभारी, राँची जिला से नवेन्दु तिवारी प्रभारी और आलोक कुमार सिंह सह-प्रभारी, सरायकेला खरसवाँ जिला से रजीत दिवेदी प्रभारी और कमल सिंह सह-प्रभारी, बोकारो जिला से गणेशवर महतो प्रभारी और रामकिकर मंहथा सह-प्रभारी, हजारीबाग जिला से वसीम अख्तर प्रभारी, चाईबासा जिला से शंकर देवगम प्रभारी और अरविन्द यादव सह-प्रभारी और चतरा जिला से सुमीत उपाध्याय प्रभारी और सुखदेव राणा सह-प्रभारी गिरिडीह जिला के प्रभारी विद्या भूषण सिंह सह प्रभारी उदय सिन्हा की घोषण किया गया। बैठक में केन्द्रीय उपाध्यक्ष रामनरायण शर्मा और मुकेश पांडेय, महामंत्री आशीष शीतल मुण्डा आदि ने भाग लिया।