भू रैयतों ने रोका ट्रांसमिशन लाइन का कार्य, जबरन कार्य करने पर आत्महत्या की दी चेतावनी

इटखोरी(चतरा)। इटखोरी प्रखंड अंतर्गत धनखेरी पंचायत के परोका गांव में 22 जून को पावर ट्रांसमिशन लाइन के कार्य को स्थनिय ग्रामीणों ने रोक दिया। उसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम व कंपनी के लोगों के साथ ग्रामीण उलझ गए। ग्रामीणों ने विभाग को चेतावनी दे दी कि यदि जबरदस्ती लाइन बिछाने का कार्य शुरु किया गया तो आत्महदाह करने जैसा कदम उठाने को विवश होंगे। इस दौरान युवक अभिमन्यु राणा ने हाथ में पेट्रोल लिए हुए था। इसके बाबजू जब पुलिस व प्रशासन की मदद से कंपनी के लोग कार्य करने लगे तो युवक ने उसी पेट्रोल से आत्महत्या करने का भी प्रयास किया। हालांकि पुलिस द्वारा काफी देर तक समझाने के बाद युवक को शांत कराया गया। वहीं ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि इस कार्य में पुलिस भी कंपनी की मदद कर रही है और प्रशासन की मिलीभगत से हमारी समस्याओं को नजरंदाज कर उपयोगी जमीनों में बिजली खंभा गाड़ कर हाई वोल्टेज लाइन बिछाने का कार्य करने का प्रयास किया जा रहा है। यदि कंपनी और पुलिस का यही रवैया रहता है तो हम सभी के पास आत्महत्या करने के अलावा कोई चारा नहीं बचेगा। विभाग के सहायक अभियंता सुनिल कुमार ने कहा कि टावर लगाने के लिए लोगों से आग्रह किया जा रहा है, लेकिन वह नहीं मान रहे हैं। डीएसपी केदार राम ने कहा कि कंपनी ने टावर लाइन बिछाने के लिए पुलिस की सहायता मांगी है। लोग इसका विरोध कर रहे हैं। फिलहाल काम को रोक दिया गया है, यदि दो दिन में उच्च अधिकारियों से आदेश नहीं लाते हैं तो कंपनी पुनः उसी स्थल पर ट्रांसमिशन का कार्य करेगी। कार्य के विरोध करने वालों पर कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।