कोडरमा से बड़ा हादसा: लिफ्ट गिरने से दो इंजीनियर समेत चार की मौत

कोडरमा: जिले के बांझेडीह स्थित कोडरमा थर्मल पावर प्लांट (केटीपीपी) में गुरुवार अपराह्न तीन बजे हुए हादसे में प्रोजेक्ट हेड, प्रोजेक्ट ऑफिसर समेत चार लोगों की मौत हो गई। मृतकों में दो इंजीनियर भी शामिल हैं। चिमनी के निर्माण के दौरान अस्थायी लिफ्ट के गिरने से यह हादसा हुआ।
जानकारी के अनुसार हादसे के शिकार सभी लोग प्लांट में काम कर रही कंपनी थर्मेक्स की सबलेट कंपनी श्री विजया में कार्यरत थे। इनमें कंपनी के प्रोजेक्ट हेड कृष्णा प्रसाद कोडाली (42, आंध्र प्रदेश), प्रोजेक्ट ऑफिसर विनोद चौधरी (50, नागपुर), इंजीनियर कार्तिक सागर (30, आंध्र प्रदेश) और सेफ्टी ऑफिसर नवीन कुमार (30, गया, बिहार) हैं।
आज दोपहर बाद सभी लोग निर्माणाधीन चिमनी का निरीक्षण कर लिफ्ट से उतर रहे थे। लिफ्ट की ऊंचाई करीब 90 मीटर है। करीब 10 मीटर नीचे आने के बाद ही लिफ्ट का तार टूट गया और फिर करीब 80 मीटर की ऊंचाई से लिफ्ट के सीधे नीचे गिर गई। हादसे में दो लोगों की मौत घटनास्थल पर ही हो गई, जबकि दो अन्य की मौत सदर अस्पताल जाने के क्रम में हो गयी।
घटना के बाद वहां अफरा-तफरी मच गयी और सभी को कोडरमा सदर अस्पताल लाया गया। यहां चिकित्सकों ने चारों को मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद संबंधित कंपनी के अधिकारी, डीवीसी के अधिकारी कोडरमा सदर अस्पताल पहुचे। खबर पाकर मृतकों के परिजन भी कोडरमा के लिए रवाना हुए हैं। मरने वाले सभी लोग अस्थायी रूप से झुमरीतिलैया शहर के विशनपुर रोड में और कुछ प्लांट परिसर में निवास कर रहे थे।
फिलहाल, इस मामले को लेकर कोडरमा थर्मल पावर प्लांट के चीफ इंजीनियर उदय कुमार भी बैठक कर रहे हैं। घटना के पीछे के कारणों का पता लगाया जा रहा है। श्री विजया कंपनी डीवीसी द्वारा संचालित केटीपीपी में चिमनी बनाने का कार्य कर रही है।