बिजली विभाग ने बकाया बिल वसूली को ले ग्रामीणों के साथ की बैठक

गिद्धौर(चतरा)। बिजली विभाग द्वारा 25 दिसंबर को जिले के गिद्धौर प्रखंड के द्वारी पंचायत मुख्यालय में विद्युत समस्या समाधान के साथ बकाया बिजली बील वसूली को लेकर शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में विभाग के कार्यपालक अभियंता चंद्रमोहन शर्मा के साथ बिजली उपभोक्ता और ग्रामीण शामिल थे। इस अवसर पर लोगों ने बिजली से संबंधित समस्यायों को रखते हुए बताया कि द्वारी में 2003 में गांव के कई लोग कंज्यूमर बने थे। ताकि गांव में बिजली आए और अप्रैल 2014 में बिजली आई। लेकिन विभाग के द्वारा 2003 से ही बिजली बिल भेजा जा रहा है। गलत बिजली बिल आने की वजह से ग्रामीण बिल जमा नहीं कर रहे हैं। जिसके कारण 50,000 से अधिक का हर उपभोक्ता का बिल भेजा जा रहा है। उपभोक्ताओं ने अधिकारियों से गांव में जब से बिजली आई है तब से बिल को देने का आग्रह किया है। गांव में आज से 6 साल पहले ही बिजली आई है लेकिन ग्रामीणों को 17 साल पुराना बिल मांगा जा रहा है। विभाग ने बताया कि गांव में 200 से अधिक उपभोक्ता हैं और करीब 2 करोड़ का बिजली बिल बकाया है। ऐसे में गांव का कनेक्शन काटा जा सकता है। ग्रामीणों ने बिजली बिल को लेकर उपजे विवाद को हल का आग्रह किया है। सर्वसमति से निर्णय लिया गया कि दुवारी पंचायत में बिजली बिल हेतु 29 दिसम्बर को एक शिविर लगाकर बकाया बिल जमा लेने के साथ नया कनेक्शन देने का कार्य किया जाएगा। बैठक सह शिविर में जेई तरुण कुमार, सुदेश सिन्हा, सुखदेव दसोन्धी, जगदीश यादव, बिंदेश्वरी प्रसाद मंडल, जवाहर लाल अग्रवाल, शशि कुमार गुप्ता, शम्भू राणा, अर्जुन यादव, विवेक कुमार यादव, टिंकू कुमार, प्रकाश यादव, रामकुमार अग्रवाल, विकाश राणा व संतोष राणा आदि शामिल थे।