बाईपीड़ फुटबॉल मैदान का नामकरण आचार्य विनोबा भावे मैदान हुआ

दो दिवसीय फुटबॉल के समापन समारोह में मैदान का हुआ नामाकरण
रामगोपाल जेना
चक्रधरपूर: बिरसा मेमोरियल,बाईपीड़ द्वारा आयोजित भू-दान यज्ञ के प्रणेता आचार्य विनोबा भावे के नाम से मैदान का नामकरण किया गया । इस अवसर पर मुख्यातिथि के रूप में दिशुम गुरु आशीर्वाद योजना के अध्यक्ष सन्नी उरांव मौजूद थे ।सन्नी उराँव ने अपना संबोधन में कहा कि
भू-दान यज्ञ के प्रणेता आचार्य विनोबा भावे जी के जीवन का एकमात्र उद्देश्य था कि देश में कोई भूमिहीन न हो । दो दिवसीय फुटबॉल टुर्नामेंट में भारी बारिश के बावजूद सफलता पूर्वक समापन के लिए आयोजन समिति को साधुवाद दिया। अतिथि के रूप में झारखंड मुक्ति मोर्चा प्रखंड अध्यक्ष सह केरा पंचायत के मुखिया संजय हांसदा , जामिद पंचायत की मुखिया मंजूश्री तियू,सिलफोड़ी पंचायत की मुखिया सुश्री मेलानी बोदरा, झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिला सह-सचिव प्रदीप महतो प्रखंड सचिव ताराकांत सिजूई, अमर बोदरा,वनबिहारी लोहार उपस्थित रहे ।
महिला वर्ग से डोमरा की टीम विजेता एवं ए. बी. सी. बाईगोड़ा उपविजेता रही । पुरुष वर्ग में फाईनल का मैच अन्डर फिफ्टीन और सोहन ब्रदर्स के बीच हुआ जिसमें अन्डर फिफ्टीन ने 1 – 0 से विजय गोल मार कर टुर्नामेंट के खिताब पर अपना कब्जा जमा लिया।
जूनियर खिलाड़ियों के वर्ग में एन. के. ग्रुप और राज विजयपुर के बीच खेला गया जिसमें पेनाल्टी शूटआउट में एन.के.ग्रुप की टीम विजेता रही ।

आयोजनकर्ता बिरसा मेमोरियल, बाईपीड़ के सदस्य और पदाधिकारी मुख्य रूप से घनश्याम सिजूई,आशिष दोंगो, नन्दलाल दोंगो,मदन दोंगो,बाबलू सिजूई एवं संचालन कर्ता अशोक प्रधान आदि का सराहनीय योगदान रहा ।