विधानसभा में नमाज के लिए कमरा आवंटित करने पर सड़क पर उतरी भाजपा

रांची: हेमंत सरकार द्वारा विधानसभा में नमाज के लिए एक कमरा आवंटित करने का मामला अब गरमाने लगा है। इसे लेकर भाजपा ने आक्रामक रूख अख्तियार कर लिया है। प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने रविवार को कहा कि हेमन्त सरकार ने साजिशन एक तरफ मंदिर में पूजा पर रोक लगा रखी है। दूसरी ओर एक विशेष समुदाय को खुश करने के लिए विधानसभा भवन में नमाज अदा करने के लिए कक्ष आवंटित कर तुष्टिकरण की राजनीति को आगे बढ़ाया है।

उन्होंने कहा कि तुष्टिकरण की राजनीति के खिलाफ पार्टी आंदोलन और भी तेज करेगी। सभी जिला मुख्यालयों पर धरना-प्रदर्शन और विधानसभा का घेराव करेगी। उन्होंने कहा कि विधानसभा लोकतंत्र की मंदिर है, जिसे हेमन्त सरकार ने तुष्टिकरण की राजनीति कर अपमानित किया है। हेमन्त सरकार की तुष्टिकरण राजनीति के खिलाफ 27 सांगठनिक जिला मुख्यालयों में मुख्यमंत्री एवं विधानसभा अध्यक्ष का पुतला दहन किया गया। इस पुतला दहन कार्यक्रम में सैकड़ों की संख्या में पार्टी कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी उपस्थित रहें।

रांची महानगर में हरमू चौक पर रांची महानगर अध्यक्ष केके गुप्ता के नेतृत्व में पुतला दहन किया गया। जिसमे सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता शामिल थे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेश महामंत्री आदित्य साहू ने हेमन्त सोरेन सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि हेमन्त सरकार लगातार बहुसंख्यक समाज पर हमले बोल रही है और वोट बैंक की राजनीति में मर्यादा भुलाकर तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है। हेमन्त सरकार के फैसले से जनता में गुस्सा है। इस फैसले को यथा शीघ्र वापस ले अन्यथा झारखंड की जनता सड़कों पर उतरने को विवश होगी।

उन्होंने कहा कि विधानसभा राज्य की सर्वोच्च पंचायत है, लोकतंत्र का मंदिर है जिसे हेमंत सरकार तुष्टिकरण का केंद्र बना रही है। अपनी विफलताओं को छिपाने के लिये हेमंत सरकार तुष्टिकरण से भरे निर्णय लगातार ले रही है। यह फैसला पूरी तरह असंवैधानिक और अलोकतांत्रिक है।