भाजपा ने गुरू कोल लाको बोदरा की पुण्यतिथि मनाई

रामगोपाल जेना
चाईबासा: भाजपा जिला कार्यालय में भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा पश्चिम सिंहभूम द्वारा ओत कोल गुरू लाको बोदरा का 35 वाँ पुण्यतिथि मनाया गया। कार्यकर्ताओं द्वारा दीप प्रज्वलन एवं चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित किया ।
श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए चाईबासा विधानसभा क्षेत्र पूर्व विधायक पुत्कर हेंब्रम ने उनकी जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हो भाषा के महान साहित्यकार लाको बोदरा जी के जीवन के बारे में हम सभी आदिवासी समुदाय के लोगों को जरूर स्वाध्याय करना चाहिए । ओत कोल गुरु लाको बोदरा का जन्म 19 सितंबर 1919 दो पश्चिम सिंहभूम जिला , खूंटपानी प्रखंड स्थित पासेया गांव में हुआ था बाल्यकाल में जब विद्यालय जाया करते थे तभी उनके शिक्षक ने पढ़ाई के क्रम में कहा गया था कि जिस समाज का अपना भाषा नहीं है उनकी प्रारंभिक शिक्षा बाच्चोमहातु प्राथमिक विद्यालय में हुई आगे की पढ़ाई के लिए चक्रधरपुर एवं चाईबासा चले गए ।इसके बाद उन्होंने जयपाल सिंह मुंडा की सहायता से पंजाब के जालंधर शहर के कॉलेज से होम्योपैथी की डिग्री प्राप्त की थी। कुछ दिन तक चक्रधरपुर रेलवे में भी नौकरी किए बाद में समाज की चिंता, भाषा की चिंता, लिपि की चिंता करते हुए समाज को एक नया आयाम नया दिशा दिया और 29 जून 1986 को उन्होंने अपना देह त्याग दिया। कार्यक्रम को भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा जिला उपाध्यक्ष सुभाष पाडेया, मनोज लेयांगी ने भी संबोधित किया। श्रद्धा सुमन अर्पित करने के लिए जयपाल कुंकल ,अनूप कुमार सुलतानिया, पूर्व जिला अध्यक्ष दिनेश चंद्र नंदी, भाजपा जिला महामंत्री प्रताप कटियार , बबलू शर्मा, जय किशन विरूली, गीता बालमुच्चु ,सुरा लागुरी, दिनेश मुंडा ,जय किशन यादव ,शिव बजाज ,अक्षय खत्री अनंत सायनम ,सुब्रत सिन्हा ,प्रणय प्रजापति ,अंगद साव, मुकेश जोगी, राहुल कारवां ,मांगता गोप, सुदामा हायबुरू, मनोज आजाद समेत अनेक कार्यकर्ता उपस्थित थे