भाकपा माले के द्वारा काला दिवस मनाया गया

रामगढ़। भाकपा माले एवं भाकपा माले के जन संगठन झारखंड ग्रामीण मजदूर सभा,इनौस,अखिल भारतीय किसान महासभा के नेतृत्व में देश व राज्यों में बड़े पैमाने पर काला दिवस कार्यक्रम मनाया गया। भाजपा नरेंद्र मोदी सरकार के 7 साल से चले आ रहे जनविरोधी नीतियों एवं कानूनों खिलाफ एवं किसानों का चल रहे छह महीनों से आंदोलन के समर्थन एवं काले कृषि कानून के खिलाफ में काला दिवस कार्यक्रम के माध्यम से लोक डॉन का मद्देनजर रखते हुए शारीरिक दूरियां बनाकर धरना प्रदर्शन करते हुए रामगढ़ जिला के पड़रिया गांव में भाकपा माले जिला सचिव भुनेश्वर बेदिया,रामबृक्ष बेदिया, जगदीश बेदिया, उमेश बेदिया,मुकेश बेदिया के नेतृत्व में अन्य लोग एवं ग्राम घुटूवा में झारखंड ग्रामीण मजदूर सभा के जिला अध्यक्ष देवकीनंदन बेदिया, नागेश्वर मुंडा, नीता बेदिया, ग्राम कंजगी में रूपण गोप, जयनंदन गोप कांति देवी , ग्राम पोचरा में अमल कुमार,देवानंद गोप, पवन गोप,झूमा घोषाल, बृज नारायण मुंडा, गोला प्रखंड के चाडी गांव में रंजीत बेदिया के नेतृत्व में,ग्राम बुमरी में लालचंद बेदिया के नेतृत्व में काला झंडा एवं धरना पोस्टर के जरिए कार्यक्रम की गई जिसमें निम्न मांगे की गई।
1. तीनों कृषि काले कानून वापस लो। 2.लॉकडाउन से प्रभावित हुए बेरोजगारों के लिए छह माह मुफ्त राशन व ₹7500 की आर्थिक सहयोग दो।
3. मुफ्त चिकित्सा की व्यवस्था करो ।
4. दिहाड़ी व बेरोजगार हुए मजदूरों के लिए प्रति माह ₹10000 भत्ता दो। 5. एमएसपी की गांरटी के लिए केन्द्रीय कानून बनाओ।
6. चार लेबर कोड मजदूरों के लिए फांसी का फंदा है,तत्काल इसे वापस लो।
7. कोविड से बचाओ के लिए,सभी के लिए मुफ्त में वैक्सीन उपलब्ध कराओ।