बोकारो के सेक्टर 9 में चला बाल अधिकार संरक्षण जागरूकता अभियान

बोकारो: आज बाल अधिकार संरक्षण जागरूकता अभियान के निदेश प्रभाकर कुमार और राॅयल पब्लिक स्कूल के प्राचार्य मुकेश के नेतृत्व में आ बोकारो के सेक्टर 9 में आज भी जारी रहा जागरूकता अभियान।

डॉ प्रभाकर कुमार ने बस्तियों के समुदायों सहित बच्चों , बच्चों के माता पिता , स्थानीय लोगों को बाल अधिकारों , बाल कानूनों , पोक्सो कानून समेत बच्चों के टॉल फ्री नो 1098 की जानकारी दी । बच्चे की कोई समस्या होने पर इसकी सूचना स्थानीय थाने या 1098 पर सूचित करने को बतलाया । गांवों , कस्बों , विभिन्न बस्तियों में बच्चों की खरीद फरोख्त करने में दलाल स्थानीय को मोहरा बनाते हैं , बाल विवाह के नाम पर लड़कियों की बाल तस्करी आदि की जा रही है , मानव तस्करी , मानव अंगों के व्यापार आदि के बारे में बतलाये ।

डॉ प्रभाकर कुमार ने बाल अधिकारों के सरंक्षण मे स्थानीयों विशेषकर बच्चों के माता पिता अभिभावकों को जागरूक करते हुए बतलाया कि गांव , कस्बों से ही घटना प्रकाश में आती है अगर गांव , कस्बे में रहने वाले अभिभावक बाल अधिकारों को अच्छी तरह जाएंगे , तो बच्चे के उत्पीड़न पर बहुत हद तक रोकथाम लगेगी । अभिभावकों को यह भी बतलाया गया कि जिले में बच्चों के सेवार्थ सरकारी इकाई भी है और बच्चों के हितधारक भी हैं जो बच्चों के सर्वोत्तम हित के लिये कार्यरत हैं । सुरक्षित स्पर्श असुरक्षित स्पर्श , बाल विवाह , बाल श्रम , बाल तस्करी के मनोवैज्ञानिक दुष्परिणामो पर भी चर्चा । लिंग भेद , लिंग असमानता समाज में पूर्वाग्रह को बढ़ाने का कार्य करती यद्यपि सामाजिक संतुलन के लिये लड़की लड़के मे कोई अंतर नहीं । विकास अधिकार के तहत लड़कियों को भी समान अवसर दिया जाना है , कुपोषण मुक्त बच्चों का संवर्धन जरूरी है । सुरक्षित बचपन ही राष्ट्र की अस्मिता को पंख दे सकती है ।

रॉयल पब्लिक स्कूल के प्राचार्य मुकेश कुमार ने बच्चों में आत्मविश्वास जगाकर माता पिता की बात मानने व अपना ध्यान पढ़ाई , स्वास्थ्य की ओर केंद्रीय करने को कही । बाल अधिकारों से सजग कर दिए जाने से बच्चे का विकास सही रूप से निर्धारित हो पाती है । शिक्षा , अच्छा भोजन , स्वास्थ्य , खेलकूद आदि बच्चों के मूलभूत अधिकार हैं , बच्चों को बेहतर नागरिक बनाने में हम सभी अभिभावकों की मुख्य भूमिका ।

बच्चों में प्रतियोगिता करवाकर स्टेशनरी व जरूरत की सामग्रियों का वितरण बच्चों के मनोबल को बढ़ाने हेतु किया गया । युवा शक्ति के रूप में मनोविज्ञान विषय के विद्यार्थी अभिषेक आनंद ने अभियान में साथ दिया ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *