चुप्पी तोड़ो, स्वस्थ रहो अभियान का हुआ शुभारंभ

गोड्डा: शनिवार को जिला में ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘चुप्पी तोड़ो, स्वस्थ रहो’ अभियान का शुभारंभ पेयजल एवं स्वछता विभाग के कार्यपालक अभियंता के द्वारा किया गया। जिले के सभी जलसहिया, प्रखंड कॉर्डिनेटर, डीपीएम जेएसएलपीएस , तेजस्वनी योजना के जिला कोआर्डिनेटर, समाज कल्याण विभाग, यूनिसेफ , आईडीएफ के सहयोग से बेविनार किया गया।
पेयजल एवं स्वछता विभाग के कार्यपालक अभियंता ने कार्यक्रम को कैसे सफल बनाने, लोगों को जागरूक करने एवं समाज में फैली कुरूतियों को दूर करने के मुद्दे पर विस्तार पूर्वक जानकारी दी ।

इस बेविनार में राज्य स्तर से यूनिसेफ की कंसलटेंट श्रेया के द्वारा माहवारी स्वच्छता प्रबंधन और इसके समुचित निपटान और रूरल एरिया में भ्रांतियां को कैसे दूर कर पाएंगे, समाज में कितना सुधार करना है, सभी विभागों को कन्वेंशन मोड में किस प्रकार मिलकर समाज को सुधार सकते हैं, स्लाइड के माध्यम से दिखाया गया।
जेएसएलपीएस के डीपीएम सुशील दास ने कहा कि एसएचजी की दीदी के माध्यम से गांव में स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इस कार्य मे जलसहिया को अहम किरदार दिया गया है। स्वच्छता के प्रति जागरूक करने जैसे अन्य बातों को विस्तार पूर्वक इस बैठक के माध्यम से संबंधित लोगों को जानकारी दी गई। बैठक में किशोरियों को सेनेटरी पैड के महत्व के बारे में बताने के लिए कहा गया। इस बेविनार में एसबीएम टीम के सभी कर्मी, यूनिसेफ, आईडीएफ के सभी कर्मी ने भाग लिया।

*उप विकास आयुक्त महोदया गोड्डा श्रीमती अंजलि यादव ने इस संबंध में कहा कि इस अभियान का मुख्य उद्देश्य सभी किशोरियों और महिलाओं में माहवारी स्वच्छता के प्रति जागरूकता बढ़ाना तथा माहवारी स्वच्छता के प्रति व्यवहार परिवर्तन सुनिश्चित करना है। साथ ही माहवारी स्वच्छता कार्य योजना का निर्माण करना। इस वर्ष का थीम ”मेंस्ट्रुअल हाइजीन मैटर्स” है। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में किशोरियों एवं महिलाओं के साथ पूरे ग्राम पंचायतों एवं विद्यालयों को कार्यक्रम की जानकारी के साथ जागरूक कर जिम्मेदार बनाना और उन्हें प्रोत्साहित करना है। वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए पूरे राज्य में सीमित आवाजाही एवं प्रतिबंध के चलते अभियान को इस वर्ष भी डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से समुदाय तक पहुंचाने की पहल की जा रही है। यह कार्यक्रम तीन जून 2021 तक पूरे एक सप्ताह चलाया जाएगा।