कोडरमा के डीसीओ अमर भूषण क्रांति के खिलाफ गोड्डा में मुकदमा दर्ज

– सहकारिता बैंक से 10 लाख रुपए लोन लेकर एक भी किस्त नहीं चुकाने का आरोप
– सहकारिता बैंक, गोड्डा के प्रबंधक रंजन कुमार ने न्यायालय में किया केस

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: कोडरमा के जिला सहकारिता पदाधिकारी अमर भूषण क्रांति के ऊपर कोऑपरेटिव बैंक, गोड्डा के शाखा प्रबंधक रंजन कुमार ने यहां के न्यायिक दंडाधिकारी प्रथम- किशोर कुमार के न्यायालय में एनआई एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया है।अमर भूषण क्रांति के द्वारा वर्ष 2018 में गोड्डा में जिला सहकारिता पदाधिकारी के पद पर रहते हुए झारखण्ड राज्य सहकारी बैंक, गोड्डा से 10 लाख रुपए का व्यक्तिगत ऋण लिया गया था, जिसका एक भी किस्त उनके द्वारा जमा नही किया गया।इनके द्वारा 22753 रुपये का दो चेक बैंक में जमा किया गया था, जो बाउंस कर गया।
इसके बाद बैंक के शाखा प्रबंधक रंजन कुमार ने एनआइए एक्ट के तहत कोर्ट में मुकदमा दर्ज कराया है। मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी कोर्ट ने इसे प्रथम सत्र न्यायिक दण्डाधिकारी के कोर्ट में ट्रान्सफर कर दिया।
अमर भूषण क्रान्ति वर्तमान में कोडरमा में जिला सहकारिता पदाधिकारी के पद पर कार्यरत हैं।इनके अलावा अन्य दो सरकारी कर्मी डीडीसी गोड्डा के बॉडीगार्ड जिला पुलिस के गौतम कुमार दास एवं सिविल कोर्ट के अनुसेवक ब्रह्मदेव मेहतर के ऊपर भी एनआईए एक्ट की धारा 138 के तहत कोर्ट ने संज्ञान लिया है।बैंक के अधिवक्ता अजय प्रसाद साह ने बताया कि इस केस में डबल फाइन के साथ अधिकतम दो वर्ष की सजा का प्रावधान है।
शाखा प्रबंधक ने बताया कि बैंक के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी के निर्देशानुसार ऋण वसूली हेतु सभी एनपीए ऋणधारियों के ऊपर सर्टिफिकेट केस की प्रक्रिया भी पूरी की जा रही है।