एसीबी अधिकारी पर हमला के आरोप में रंका थाना के तीन सहायक उप निरीक्षक व अज्ञात पुलिस के खिलाफ मामला दर्ज

गढ़वा से नित्यानंद दुबे रिपोर्ट
गढ़वा : रांका पुलिस ने भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) निरीक्षक पर रंका पुलिस द्वारा हमले के संबंध में तीन सहायक उप निरीक्षक और अज्ञात पुलिस के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।
एसीबी इंस्पेक्टर अजीत अरुण एक्का की शिकायत के आधार पर पुलिस ने एएसआई कमलेश सिंह, एएसआई उपेंद्र सिंह, एएसआई अजीत कुमार तिवारी और अज्ञात पुलिस अधिकारियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 323/341/504/353 और 34 आईपीसी के तहत प्राथमिकी दर्ज की है.
बुधवार शाम पलामू भ्रष्टाचार निरोधक शाखा (एसीबी) की एक टीम पर कुछ पुलिस अधिकारियों ने रंका पुलिस स्टेशन पर हमला किया, जब एसीबी की टीम ने एक सहायक उप-निरीक्षक (एएसआई) को रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार करने के लिए स्टेशन पर छापा मारा।
पुलिस अधिकारी कमलेश कुमार, जो एसीबी टीम के जाल में थे, ने छापेमारी दल के खिलाफ अभियान का नेतृत्व किया। एसडीपीओ अवध कुमार यादव ने कहा कि वह फरार है।
घटना में एसीबी इंस्पेक्टर अजीत अरुण एक्का घायल हो गए।
एसीबी की टीम स्थानीय निवासी संतोष कोरिया की शिकायत पर रंका थाने के एएसआई कमलेश कुमार सिंह के खिलाफ थाने पहुंची, जिन्होंने कथित तौर पर एक पुलिस शिकायत को निपटाने के लिए 34,000 रुपये की रिश्वत मांगी थी। बातचीत के बाद यह 20,000 रुपये पर तय हुआ।
ए सी बी टीम वहाँ पहुंची तथाशिकायतकर्ता को की रिश्वत की रकम सौंपने के लिए कहा गया। चौकीदार सुनील ठाकुर को 20,000 दिया गया। इसी बीच कमलेश कुमार व अन्य ने एसीबी टीम पर हमला कर दिया। हमले में एएसआई और अन्य कांस्टेबल को एक कमरे में कमलेश और दूसरे एएसआई समेत अन्य लोगों ने पीटा। उन्होंने छापेमारी करने वाली टीम को गोली मारने की भी धमकी दी थी।