किसान मजदूर विरोधी काला कानून वापस ले केंद्र सरकार : भाकपा 

रामगढ़: बृहस्पति वार को रामगढ़, डाडी,भुरकुंडा, कोठार ,चेटर ,रांची रोड, रामगढ़ सहित कई जगहों पर राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम के तहत किसान मजदूर विरोधी काले कानून को वापस लेने, बढ़ती हुई महंगाई पर रोक लगाने, न्यूनतम समर्थन मूल्य के लिए कानून बनाने, बिजली बिल 2020 को वापस लेने, फादर स्टैंड स्वामी के मौत को न्यायिक जांच कराने । आदि कई मांगों के समर्थन में प्रदर्शन किया गया,। सर्वप्रथम फादर स्टेन स्वामी के चित्र पर मोमबत्ती जलाकर एवं माला पहनाकर, श्रद्धांजलि अर्पित की गई,। मौके पर उपस्थित भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी झारखंड राज्य के सहायक सचिव महेंद्र पाठक, जिला सचिव विष्णु कुमार, किसान नेता नेमन यादव, मौजूद थे। महेंद्र पाठक ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार लगातार किसानों को परेशान कर रही है ,महीनों से पूरे देश में लाखों किसान मजदूर आंदोलन पर है,। लेकिन सरकार तानाशाही रवैया अपनाते हुए लगातार निर्णय ले रही है ,केंद्र की सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है ,कोरोना महामारी को रोकने में सरकार असफल रही , लाखों लोग मौत के मुंह में समा गए , कोरोना काल में सरकार की गलती के कारण केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण बेतहाशा महंगाई बढ़ रही है । डीजल पेट्रोल के दाम आसमान छू रहे, जिसके चलते हर आवश्यक वस्तुओं के दाम लोगों को जीना मुश्किल कर दिया है‌ इसलिए जन विरोधी कानून केंद्र की सरकार वापस ले कार्यक्रम के बाद महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को स्मार पत्र भेजकर जन विरोधी कानून को निरस्त करने की मांग की गई । जिला सचिव विष्णु कुमार ने कहा कि केंद्र हो या राज्य की सरकार किसानों को लगातार प्रताड़ित कर रही है । किसानों को एक भी नहीं सुन रही है । किसानों के हित में बनाएं कानूनों को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है। इसीलिए राज्य में भुखमरी बेकारी बेरोजगारी लगातार बढ़ता जा रहा है। प्रदर्शन में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी झारखंड राज्य के सहायक सचिव किसान नेता महेंद्र पाठक विष्णु कुमार मेमन यादव, नसीर उद्दीन अहमद और छोटू खान, मेवा लाल प्रसाद ,दशरथ राम, प्रेम पासवान अविनाश नायक मनोज पहन मौजुद थे।