झारखण्ड विधानसभा सामान्य प्रयोजन समिति के सभापति एवं सदस्य पहुंचे चतरा

परिसदन में सभी संबंधित पदाधिकारियों के साथ जनहित एवं राज्यहित से संबंधित विषयों को लेकर की बैठक
चतरा। झारखण्ड विधानसभा सामान्य प्रयोजन समिति के सभापति सह विधायक सरयू राय समेत समिति के सदस्य सह विधायक दीपिका पाण्डेय सिंह, अनंत ओझा व मथुरा प्रसाद महतो बुधवार को चतरा जिले के दौरे पर पहुंचे। परिसदन भवन पहुंच उपायुक्त अंजली यादव ने सभापति एवं सदस्यों को पुष्प भेंटकर स्वागत किया। उसके उपरांत परिसदन स्थित सभा कक्ष में प्रयोजन समिति द्वारा जिले के सभी संबंधित विभागीय पदाधिकारियों के साथ समितियों की विभिन्न प्रतिवेदनों में की गई अनुशंसाओं के क्रियान्वयन तथा जिला के जनहित एवं राज्यहित से संबंधित विषयों पर बैठक की गई। बैठक में समिति द्वारा मुख्य रूप से आपदा प्रबंधन, अनुकंपा, खनन, विद्युत, पेयजल, आपूर्ति, शिक्षा, स्वास्थ्य, डीएमएफटी, कल्याण, समाज कल्याण, वन, सड़क समेत अन्य विभागों की बिंदुवार समीक्षा की गई। समीक्षा के क्रम में संबंधित अधिकारियों द्वारा एक-एक कर जिले में किए जा रहे कार्यों का सम्पूर्ण आंकड़ा एवं जानकारी समिति के समक्ष प्रस्तुत किया गया। वित्तीय वर्ष 2020-21 व 21-22 में अब तक आपदा प्रबंधन के तहत प्राकृतिक आपदा वज्रपात, बाढ़ समेत अन्य दुर्घटना में दिए गए मुआवजा राशि का पूर्ण ब्यौरा अपर समाहर्ता द्वारा दिया गया। अनुकंपा के आधार पर नौकरी के विषय पर स्थापना उप समाहर्ता द्वारा जानकारी दी गई। अवैध खनन, बालू डिस्पैच, डंप स्टेशन, क्रशर मशीन संचालन की भी जानकारी लेते हुए आवश्यक निर्देश दिए गए। जिले में सड़क चौड़ीकरण में होने वाले पेड़ों की कटाई, वृक्षारोपण के संबंध में वन प्रमंडल पदाधिकारी से जानकारी ली गई। वहीं 10 मीटर की पहाड़ियों को संरक्षित करने हेतु ऐसे पहाड़ियों के आकलन करने का निर्देश दिया गया। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए समिति द्वारा अस्पताल से रोजना निकलने वाले वेस्ट मेटेरियल का अच्छे से सेग्रेगेश कर योजनाबद्ध तरीके से डिस्पोजल को लेकर आवश्यक निर्देश दिए गए। जिले में बाल विवाह के मामलों पर विशेष ध्यान देने का निर्देश दिया गया। कोविड-19 से हुई कर्मियों की मृत्यु पर उन्हें बीमा समेत अन्य लंबित राशि के भुगतान हेतु निर्देशित किया गया। जिले के वैसे योग्य लाभूक जिन्हें अब तक वृद्धा अवस्था पेंशन, विधवा पेंशन समेत अन्य पेंशन आदि का लाभ नही मिल पा रहा, उन सभी को चिन्हित कर पेंशन आदि का लाभ सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। बैठक में मुख्य रूप से डीएफओ दक्षिणी, डीडीसी, एसी समेत सभी संबंधित विभाग के पदाधिकारी मौजूद थे।