अन्नपूर्णा कॉलोनी के रहने वाली चंदा भारती ने बीपीएससी में द्वितीय स्थान प्राप्त किया

पाकुड़ : शहर के अन्नपूर्णा कॉलोनी की रहने वाली चंदा भारती ने बिहार लोक सेवा आयोग के 65 वां संयुक्त प्रवेश परीक्षा में द्वितीय स्थान प्राप्त क्या है उनकी इस सफलता पर उनके परिजन काफी प्रसन्न देखे जा रहे हैं । चंदा भारती के पिता विवेकानंद यादव जो कि मूल रूप से बांका के रजौन के रहने वाले हैं वे वर्तमान में गढ़वा में जल संसाधन विभाग में इंजीनियर के पद पर पदस्थापित है तो मां कुंदन कुमारी शहर के हरिणडंगा मध्य विद्यालय में सहायक शिक्षक के पद पर पदस्थापित है। वही उनके तीन भाईयों में एक भाई रूपेश कुमार गृह मंत्रालय में कार्यरत है तो वही दो भाई परेश कुमार भारती और नीलेश कुमार इंजीनियर है। चंदा कुमारी ने प्रारंभिक शिक्षा डीएवी विद्यालय पाकुड़ मैं किया 12वीं की परीक्षा डीपीएस बोकारो से कि इसके बाद बीआईटी सिंदरी से सिविल इंजीनियरिंग की । चंदा भारती ने इससे पूर्व भी 64वें बीपीएससी परीक्षा में सफलता प्राप्त की थी और उन्हें रेवेन्यू सर्विस मिला था। उनकी सफलता को लेकर उनके परिजनों ने उन्हें बधाई देते हुए मिठाई खिलाकर खुशी का इजहार किया। चंदा कुमारी ने अपनी सफलता के बाबत बताया की मेरे पापा मम्मी के साथ-साथ मेरे भाई मेरी भाभी मेरे नाना ,नानी,मामा, चाचा चाची,मित्र समेत पूरे परिवार ने मुझे सपोर्ट किया और मैं आज इस मुकाम पर पहुंच पाई हूं। उन्होंने कहीं की मैं बिहार के लोगों के लिए कुछ करना चाहती थी और अब मुझे मौका मिला है मैं बिहार के लोगों की सेवा करूंगी। वही उनकी मां कुंदन कुमारी ने खुशी का इजहार करते हुए कहीं की मैं शुरू से ही अपने बच्चों को ऊंचे पद पर देखना चाहती थी और इसके लिए मैं उन्हें बराबर प्रेरित करती रही और आज मेरी बेटी ने बीपीएससी में द्वितीय स्थान लाकर मेरे परिवार वह समाज का नाम रोशन किया है। चंदा भारती को डीएवी विद्यालय के पूर्व प्राचार्य विजय कुमार ,वर्तमान प्राचार्य असीम कुमार मंडल समेत उनके चाहने वालों ने उन्हें बधाई दी।