चतरा: उपायुक्त ने की योजनाओं को लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर कोऑर्डिनेशन की बैठक

अधिकारियों के साथ कार्यों का किया समीक्षा, दिया आवश्यक निर्देश

महेंद्र कुमार यादव

चतरा: चतरा समाहरणालय स्थित सभा कक्ष में उपायुक्त दिव्यांशु झा ने जिले में संचालित अथवा प्रस्तवित मुख्य योजनाओं को लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर कोऑर्डिनेशन की समीक्षा बैठक की। बैठक में उपायुक्त ने सभी संबंधित अधिकारियों से एक एक कर योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा किया। बैठक में उपायुक्त ने मुख्य रूप से 400 केवी डी/सी नार्थ कर्णपुरा लाइन, प्लाट का विभिन्न योजनाओं में एफआरए, जीएम जेजे एनओसी, 132 केवी डी/ सी सिमरिया इटखोरी ट्रांसमिशन लाइन, 132 केवी डी/ सी चतरा हंटरगंज ट्रांसमिशन लाइन, 132 केवी डी/सी हंटरगंज इटखोरी ट्रांसमिशन लाइन, एनटीपीसी लिमिटेड केरेडारी कोल माइनिंग प्रोजेक्ट, एनटीपीसी नार्थ कर्णपुरा, 220/132/33 केवी इटखोरी जीएसएस, चोरकारी ग्रिड निर्माण कार्य, सिटी गैस डिस्ट्रीब्यूशन प्रोजेक्ट कार्य, दामोदर वैली कॉर्पोरेशन, कठौतिया शिवपुर, मुख्य प्रोजेक्ट पिपरवार, मगध रेलवे साइडिंग, सेंट्रल कोलफील्ड लिमिटेड, एनएच समेत अन्य के अंतर्गत योजनाओं पर समीक्षा किया गया। उक्त योजनाओं की समीक्षा करते हुए कार्य के क्रियान्वयन एवं कार्य के दौरान आने वाली समस्याओं, वन भूमि से संबंधित मामले, रैयतों को मुआवजा भुगतान से सम्बंधित मामले, प्रस्तावित योजना के विरुद्ध सरकारी भूमि की उपलब्धता समेत अन्य को साझा करने को कहा। बैठक में अपर समाहर्ता, अनुमंडल पदाधिकारी ,जिला भू अर्जन पदाधिकारी, सभी अंचल अधिकारी एवं विभिन्न प्रोजेक्ट के महाप्रबंधक, प्रबंधक से जानकरी लिया गया। उपायुक्त ने संचालित कार्यो एवं कार्य के दौरान कुछ समस्यओं पर गहन समीक्षा कर संबंधित अधिकारियों को कई आवश्यक निर्देश दिए। जिससे समस्याओं को दूर कर सरल तरीके से कार्यो का संचालन किया जा सके। संचालित योजनाओं की स्थल निरीक्षण से संबंधित सभी अंचल अधिकारियों से जानकारी ली गई। साथ हीं अनुमंडल पदाधिकारियों को उक्त मामलों की ससमय समीक्षा करने का भी निर्देश दिया गया। वहीं समीक्षा के क्रम में संबंधित अधिकारी ने बताया कि 220/132/33 केवी इटखोरी जीएसएस, चोरकारी ग्रिड निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है। जिसपर उपायुक्त ने ग्रिड को चार्ज कर जल्द चालू करने का निर्देश दिया। बैठक में एनएच से जुड़े निर्माणाधीन सड़कों जिनमें जोरी हंटरगंज समेत अन्य की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने ससमय गुणवत्तापूर्ण कार्यों के निष्पादन का निर्देश दिया। अंत में उपायुक्त ने सभी संबंधित अधिकारियों को आपस में समन्वय बनाए रखते हुए ससमय एवं सरलता पुर्वक कार्यो के निष्पादन का निर्देश दिया गया। इंफ्रास्ट्रक्चर माइनर कॉर्डिनेशन की बैठक में उपायुक्त ने आरएईईओ अंतर्गत अमकुदर, खलारी, महुआ टांड़ रानाटोला, कांति, पहिटोला टोंगरिफार, चैनपुर, राजपुर से जोल्डिहा, कुंदा से लावालौंग, लावालौंग, रिम्मी, रामपुर, झरनिया से पांकी, प्रतापपुर कुंदा सड़क से जुड़े सड़क निर्माण कार्य की प्रगति की जानकारी लिया एवं ससमय गुणवत्तापूर्ण सड़क एवं डायवर्सन निर्माण का निर्देश दिया। साथ हीं सभी संबंधित अंचल अधिकारी को इंफ्रास्ट्रक्चर से जुड़े प्रखंड स्तर के मामले को ससमय निष्पादन करने का निर्देश दिया गया। जुडको प्रोजेक्ट से जुड़े योजना की जानकारी ली गई। संबंधित अधिकारी ने बताया कि 70 प्रतिशत कार्य पूर्ण कर लिया गया है। उपायुक्त ने सभी मरम्मती कार्य को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण करने का निर्देश दिया। साथ हीं मरम्मती कार्य को लेकर टीम बढ़ाने का भी निर्देश दिया। वही पेयजल से संबंधित उपायुक्त ने सभी अंचल अधिकारी को जल जीवन मिशन के तहत जितने भी वाटर टैंक बनने है उनके लिए सरकारी भूमि चिन्हित करने का निर्देश दिया गया। जिससे योजनाओं का संचालन बेहतर तरीके से किया जा सके। बैठक में मुख्य रूप से पुलिस अधीक्षक, ऋषव कुमार झा समेत वन प्रमंडल पदाधिकारी उतरी, दक्षिणी, अपर समाहर्ता, अनुमंडल पदाधिकारी चतरा, सिमरिया, प्रबंधक भारत गैस, जिला भू अर्जन पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता हजारीबाग, महाप्रबंधक एनटीपीसी केरेडारी, एनकेएसटीपीपी टंडवा, ट्रांसको, सीसीएल पिपरवार, मगध, आम्रपाली, सीसीएल एनके एरिया, उप महाप्रबंधक जेवीएसएनएल, जिला अभियंता जिला परिषद, कार्यपालक अभियंता पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल, विद्युत प्रमंडल, ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल, आरसीडी, आरएईईओ, सभी संबंधित अंचल अधिकारी एवं अन्य सम्बंधित मौजूद थे।