चतरा: मयूरहंड के किसानों का आंदोलन स्थगित, धान अधिप्राप्ति की प्रक्रिया शुरु

किसन नेता बलवंत ने निभाई महती भूमिक
मयूरहंड(चतरा)। पूर्व निर्धारीत कार्यक्रम के तहत जिले के मयूरहंड प्रखंड कार्यालय के समक्ष आहूत किसानों का धरना 10 मई को स्थगीत कर दिया गया। मिली जानकारी के अनुसार किसानों द्वारा घोषित आंदोलन प्रारंभ करने के पूर्व भारतीय खाद्य निगम के कर्मचारी बिपिन कुमार मयूरहंड प्रखंड कार्यालय प्रांगण में अवस्थित धान अधिप्राप्ती केंद्र पहुंचे और केंद्र के बाहर खुले आसमान के नीचे रखे धान के बोरों की गिनती कर प्रखंड के मुख्य द्वार में ताला लगा दिया। उन्होंने कहा कि जिन किसानों का धान प्रखंड कार्यालय में रखा हुआ है उनका जल्द उठाव कर लिया जाएगा। जब किसान नेता बलवंत कुमार सुमन को इसकी जानकारी मिली तो रांची से तत्काल इटखोरी पहुंचे और उन्होंने कहा कि वैसे सभी किसानों का धान लिया जाय जिन्हें फरवरी-मार्च महीने में मयूरहंड धान अधिप्राप्ति केन्द्र में धान जमा करने संबंधी संदेश प्राप्त हो चुका है। इसके लिए उन्होंने तत्काल भारतीय खाद्य निगम के वरीय अधिकारियों से वार्ता कर वैसे किसानों की सूची सौंपी। जिन्हें धान जमा करने संबंधी संदेश प्राप्त हो चुका है। बताया गया कि सुभाष कुमार सिंह ग्राम जमुनियां के 120 बैग, सुरज कुमार सिंह ग्राम कदगावां कला के 100 बैग, रिंकू देवी के 60 बैग, मालिक बाबू ग्राम तिलरा, अश्विनी सिंह अमझर, कैलाश सिंह, पशुपति सिंह, करुणाकर सिंह, धीरेन्द्र सिंह, मिथिलेश सिंह, अखिलेश सिंह, लौकेश सिंह के 100-100 बैग, सर्जन दांगी ग्राम ढोढ़ी के 120 बैग कुल 1460बैग धान की सूची सौंपी। उन्होंने कहा कि घबराने की जरूरत नहीं है। उन सभी किसानों के धानों की खरीद की जायेगी जिन्हें धान जमा करने संबंधी संदेश प्राप्त हो चुके हैं। ज्ञात हो कि किसानों के हक के लडाई में सांसद, विधायक, व लोक कल्याण की दुहाई देने वाले तथाकथित समाजसेवी और सरकार द्वारा उपलब्ध कराए संसाधनों पर तस्वीरें खिंचवाने वाले चुप्पी साधे रहे। वहीं किसान नेता श्री सुमन ने किसानों की दुर्दशा को बड़ी संजीदगी से लिया और इनकी बेहतरी के लिए इमानदार प्रयास किया जिसका प्रतिफल आज सबके सामने है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *