कोबरा के जवानों ने बांटी राहत सामग्री

खूंटीः यूं तो कोबरा बटालियन को जंगल वारियर्स के नाम से जाना जाता है। जंगलों में उग्रवादियों की टोह लेनी हो या नक्सलियों को ठिकाने लगाना हो तो बस सुप्रीमो से एक आदेश का इंतजार होता है और पूरे दल बल के साथ बीहड़ जंगलों में भी नक्सलियों के बंकरों तक पहुंच जाते हैं। पूरे अनुशासन के साथ हर काम को अंजाम तक पहुंचाने का नाम है पारा मिलिट्री फ़ोर्स कोबरा 209 बटालियन।

आज जब पूरा देश कोविड – 19 के संक्रमण से जूझ रहा है। ऐसे विपदा की घड़ी में भी कोबरा बटालियन फ्रंटलाइन में आकर महिलाओं और बुजुर्गों की मदद के लिए आगे आया है। लगभग दो तीन किलोमीटर की दूरी से ग्रामीण फूदी पंचायत के कालामाटी में राशन लेने पहुंचे थे।कालामाटी में गरीबों असहायों और जरूरतमन्दों के बीच अनाज और मास्क का वितरण किया गया। फूदी पंचायत के सिल्दा, डंडोल, डुंगरा और कालमाटी के लगभग 400 ग्रामीणों के बीच मास्क, चावल, दाल, सरसों तेल, हल्दी, साबुन का वितरण किया गया। सीआरपीएफ 209 बटालियन से राशन पाकर दूर दूर से आये बुजुर्ग और महिलाओं में संतोष साफ झलक रहा था। गरीब आदिवासी महिलाएं बोरी में अनाज लेकर निश्चिंत दिखाई दे रही थी। लॉक डाउन के चलते बाजार दूकान बन्द होने से जरूरी सामानों की दिक्कत हो रही थी लेकिन मदद के लिए आगे आये जवानों ने कोरोना संक्रमण काल में ग्रामीणों की दिक्कतों को आसान बना दिया।