विशेष आवश्यकतावाले बच्चों की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के प्रयासों हेतु प्रतिबद्ध : निदेशक

रांची: भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग के अंतर्गत कार्यरत दिव्यांग जनों के लिए समेकित पुनर्वास केंद्र (CRC- SVNIRTAR) और उत्तर प्रदेश के अमरोहा में स्थित इंस्टिट्यूट ऑफ साइकोलॉजिकल रिसर्च एंड हेल्थ (एएएस स्पेशल स्कूल) के साथ मिलकर ” विशेष जरूरत वाले बच्चों की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा ” विषय पर एक वेबीनार का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य वक्ता और विशेषज्ञ के तौर पर ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ स्पीच एंड हियरिंग, मैसूर के एसोसिएट प्रोफेसर एवं विभागाध्यक्ष डॉ आलोक कुमार उपाध्याय उपस्थित थे । उन्होंने बताया कि विशेष जरूरत वाले दिव्यांग बच्चों की शिक्षा मैं विशेष शिक्षकों पुनर्वास पेशेवरों व अभिभावकों की भूमिका वर्तमान परिदृश्य में महत्वपूर्ण हो गई है। हम सबको ऐसे बच्चों के व्यक्तिगत बौद्धिक एवं शारीरिक क्षमताओं के अनुरूप शिक्षण प्रशिक्षण संबंधित कलाओं को अपनाने की आवश्यकता है। इस कार्यक्रम को आई एस आर एस एच के निदेशक डॉक्टर नसीम ने भी संबोधित किया। सी आर सी रांची के निदेशक डॉ जितेंद्र यादव ने कहा कि विशेष जरूरत वाले बच्चों के लिए कार्य करने वाले विशेष शिक्षक पुनर्वास पेशेवरों और अभिभावकों के ज्ञान संवर्धन में यह केंद्र महत्वपूर्ण भूमिका निभाता रहेगा।

SVNIRTAR के निदेशक डॉ एस पी दास के संरक्षण व नोडल अधिकारी श्री प्रमोद तिग्गा के सहयोग , और श्री जीतेंद्र यादव निदेशक CRC रांची के संयोजन में आयोजित की गई। कार्यक्रम के समन्वय सुश्री प्रीति तिवारी (सहायक प्राध्यापक विशेष शिक्षा ),श्री सतीश कुमार (पी एंड ओ), सीआरसी रांची और १०८ प्रतिभागियों ने भाग लिया l

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *